महाराष्ट्र सियासत में फिर बढ़ी हलचल- कांग्रेस महासचिव ने लगाया ये बड़ा आरोप
महाराष्ट्र सियासत में फिर बढ़ी हलचल- कांग्रेस महासचिव ने लगाया ये बड़ा आरोपPriyanka Sahu -RE

महाराष्ट्र सियासत में फिर बढ़ी हलचल- कांग्रेस महासचिव ने लगाया ये बड़ा आरोप

महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार में कुछ ठीक नहीं है, क्‍योंकि मुंबई कांग्रेस कमेटी के महासचिव विश्वबंधु राय ने सोनिया गांधी को एक पत्र लिखकर बड़े आरोप लगाए, जिससे सियासत में उबाल आने की संभावना है।

महाराष्‍ट्र, भारत। महाराष्‍ट्र की राजनीति में हर कभी क्‍या ड्रामा मच जाए, इस बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता, यहां तीन पार्टियों 'शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस' के महाअघाड़ी गठबंधन की सरकार है। अब हाल ही मेें जो खबर सामने आई है, उससे ऐसा लगता है कि, महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार में तीनों दलों के बीच कुछ ठीक नहीं है, क्‍योंकि मुंबई कांग्रेस कमेटी के महासचिव विश्वबंधु राय द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक पत्र लिखा गया, जिससे फिर से सियासत में उबाल आने की संभावना है।

कांग्रेस नेता ने पत्र लिखकर लगाया ये बड़ा आरोप :

मुंबई कांग्रेस के महासचिव और पूर्व सांसद संजय निरुपम के बेहद करीबी माने जाने वाले विश्वबंधु राय ने इस पत्र में उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली महाविकास अघाड़ी (शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस) सरकार के रवैये पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस के खिलाफ शिवसेना और एनसीपी की साजिश का बड़ा आरोप लगाया और कहा कि, एनसीपी, कांग्रेस को दीमक की तरह कमजोर कर रही है।

पत्र में विश्वबंधु राय ने लिखा-

कांग्रेस नेता विश्वबंधु राय ने सोनिया गांधी को लिखे अपने इस पत्र में ये बातें लिखी हैं-

  • महाराष्ट्र प्रदेश की महअघाड़ी सरकार को लगभग एक वर्ष पूरे हो गए हैं, इस दौरान कांग्रेस पार्टी केवल एक सहयोगी के तौर पर ही नजर आ रही है।

  • महाराष्ट्र में सरकार चलाने की भूमिका में शिवसेना और एनसीपी ही नजर आ रहे हैं। एनसीपी कांग्रेस पार्टी को दीमक की तरह कमजोर कर रही है।

  • कांग्रेस पार्टी के मंत्रियों को महाराष्ट्र सरकार में बड़ी संख्या में जमीनी स्तर पर संगठन का कोई काम नहीं मिल रहा है। आम जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं पार्टी के मंत्रियों के विभाग काे जानते ही नहीं है।

  • साल 2019 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी द्वारा किए गए चुनावी वादों पर कोई काम नहीं किया जा रहा है। हमारे सारे के सारे वादे धरे के धरे रह गए है और एक साल का कार्यकाल समाप्‍त भी हो गया है।

  • हमारे वोट बैंक को भी हमारे सहयोगी और विरोधी राजनैतिक दल अपने तरफ खींचने में सफल हो रहे हैं। पार्टी से पलायन रोकने के लिए कुछ आवश्‍यक ठोस कदम उठाने जरूरी हैं। शिवसेना और राष्‍ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को मठबंधन धर्म पर चलने के लिए हिदायत देना भी जरूरी है।

इस दौरान कांग्रेस नेता ने अपने इस पत्र में आगे ये भी लिखा कि, कृपया उपर्युक्‍त बातों को संज्ञान में लीजिये।

हालांकि, मुंबई कांग्रेस के महासचिव विश्वबंधु द्वारा पत्र लिखकर जो आरोप लगाए गए उससे सियासी हलचल बढ़ सकती है। अभी तक को शिवसेना और एनसीपी की ओर से कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co