Raj Express
www.rajexpress.co
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह |Social Media
पॉलिटिक्स

क्या पाकिस्तान जाएंगे पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह?

पाकिस्‍तान सरकार ने मनमोहन सिंह को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन में शामिल होने का न्‍योता दिया। करतारपुर कॉरिडोर 9 नवंबर को भारतीय सिख तीर्थयात्रियों के लिए खोला जाएगा।

Rishabh Jat

राज एक्सप्रेस। पाकिस्तान की सरकार ने करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को आमंत्रित किया है। पाकिस्तान के विदेशमंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस बारे में बताया कि "पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को इसमें बुलाने का निर्णय किया है। हम जल्दी ही इस बारे में उन्हें एक औपचारिक पत्र भेजेंगे।’’ उन्होंने कहा कि सिंह सिख समुदाय का प्रतिनिधित्व करते हैं। कुरैशी ने बताया, ‘‘सिख श्रद्धालुओं का स्वागत करके हमें प्रसन्नता होगी, जो गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर करतारपुर आने वाले हैं।’’

करतारपुर स्थित दरबार साहिब को गुरदासपुर से जोड़ेगा यह गलियारा

यह गलियारा करतारपुर स्थित दरबार साहिब को पंजाब के गुरदासपुर से जोड़ेगा। इसके बाद भारतीय श्रद्धालु बगैर वीजा के वहां जा सकेंगे, उन्हें सिर्फ परमिट लेना होगा। यह गलियारा 9 नवंबर को खुलेगा। 12 नवंबर को सिख धर्म के संस्थापक गुरुनानक देव का 550वां प्रकाश पर्व मनाया जाएगा।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पाकिस्तान स्थित करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने वाले जत्थे में शामिल नहीं होंगे। बता दें कि, पहले ऐसी खबरें थीं कि मनमोहन सिंह ने पाकिस्तान में स्थित करतारपुर साहिब जाने का न्योता स्वीकार कर लिया है।

इससे पहले पाकिस्‍तान सरकार ने मनमोहन सिंह को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन में शामिल होने का न्‍योता दिया था, जिसे मनमोहन सिंह ने ठुकरा दिया था। पाकिस्तान सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस समारोह के लिए आमंत्रित नहीं किया है।करतारपुर कॉरिडोर 9 नवंबर को भारतीय सिख तीर्थयात्रियों के लिए खोला जाएगा।

आखिर क्या खास है करतारपुर में?

Gurudwara Kartarpur Sahib
Gurudwara Kartarpur Sahib
Social Media

यह गलियारा भारतीय क्षेत्र से करतारपुर साहिब गुरुद्वारे को जोड़ेगा जो पाकिस्तान के नरवाल जिले में भारतीय पंजाब के गुरदासपुर स्थित सीमा से कुछ ही दूर स्थित है। इसी गुरूद्वारे में बाबा गुरू नानक ने अपने जीवन के अंतिम क्षण बिताए थे, इस वजह से इसे बेहद पवित्र माना जाता है।

ऐतिहासिक गुरुद्वारे में पंजाब के मुख्यमंत्री के साथ जाने वाले प्रतिनिधिमंडल में पंजाब के सभी 117 विधायक, लोकसभा और राज्यसभा सांसद, शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) के सदस्य, साथ ही संत समाज के सदस्य और राज्य में मान्यता प्राप्त प्रत्येक राजनीतिक दल के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

दिल्ली पहुंचे कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भी गुरू नानकदेव के 550वें प्रकाश पर्व के कार्यक्रम में शामिल होने का न्योता दिया है। पंजाब सरकार के प्रवक्ता का कहना है कि दोनों ने इस न्योते को स्वीकार कर लिया है। हालांकि अभी क्या पीएम और राष्ट्रपति करतारपुर के कार्यक्रम में शामिल होंगे या नहीं इस पर कोई जवाब नहीं मिला है।