Raj Express
www.rajexpress.co
एनआरसी (NRC) की जरुरत क्यों?
एनआरसी (NRC) की जरुरत क्यों?|Syed Dabeer Hussain - RE
राज ख़ास

देश में एनआरसी की जरूरत है या नहीं?

पश्चिम बंगाल में गृहमंत्री अमित शाह ने एनआरसी पर अपना रुख स्पष्ट करते हुए दिए गए बयान से मच गया है बवाल, बात उठती है कि क्या देश में एनआरसी लाने की आवश्यकता है?

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस। गृहमंत्री अमित शाह ने एनआरसी पर रुख स्पष्ट करते हुए कहा, हिंदू, सिख, जैन और बौद्ध शरणार्थी को देश से जाने नहीं दिया जाएगा। वहीं, घुसपैठियों को भारत में रहने नहीं दिया जाएगा। इस पर बवाल मचा है, पर घुसपैठियों की पहचान से किसी को दिक्कत नहीं है।

भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) पर केंद्र सरकार का रुख स्पष्ट करते हुए कहा, किसी भी हिंदू, सिख, जैन और बौद्ध शरणार्थी को देश से जाने नहीं दिया जाएगा। वहीं, घुसपैठियों को भारत में रहने नहीं दिया जाएगा। एनआरसी राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बेहद जरूरी है और इसे हर हाल में लागू किया जाएगा। नेताजी इंडोर स्टेडियम में एनआरसी पर आयोजित सेमिनार में शाह ने ममता बनर्जी और तृणमूल कांग्रेस पर एनआरसी को लेकर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बंगाल में एनआरसी को लागू किया जाएगा, लेकिन उससे पहले नागरिकता (संशोधन) विधेयक को पास कराकर सभी हिंदू, जैन, सिख और बौद्ध शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दी जाएगी। शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ही चार अगस्त-2005 को संसद में घुसपैठ का मुद्दा उठाया था। अब वे अपने कथन से मुकर रही हैं। घुसपैठियों को देश से बाहर करने को लेकर गृहमंत्री शाह के बयान से सियासत गरमा गई है।