Raj Express
www.rajexpress.co
ई-सिगरेट पर पाबंदी क्यों जरूरी ?
ई-सिगरेट पर पाबंदी क्यों जरूरी ?|Neha Shrivastava RE
राज ख़ास

ई-सिगरेट पर पाबंदी क्यों जरूरी ?

भारत में ई-सिगरेट पर बैन लगाने के लिए कानून बनाने की मांग फिर उठी है। इस कानून की आवश्यकता इसलिए है क्योंकि कानून अभाव में ई-सिगरेट के आयात पर प्रतिबंध लगाना पूरी तरह संभव नहीं है।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

"ई-सिगरेट बैटरी संचालित यंत्र है जो तरल निकोटीन, प्रोपलीन, ग्लाइकॉल, पानी, ग्लिसरीन के मिश्रण को गर्म करके एक एअरोसोल बनाता है। मॉरीशस, आस्ट्रेलिया, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया, श्रीलंका, थाईलैंड, ब्राजील, मेक्सिको, उरुग्वे, बहरीन, ईरान, सऊदी अरब और भारत के बारह राज्य में ई-सिगरेट की बिक्री पर रोक लगा दी गई है। लेकिन यह पर्याप्त नहीं है "

राज एक्सप्रेस। भारत में ई-सिगरेट बनाने और इसकी बिक्री पर बैन लगाने के लिए कानून बनाने की मांग फिर उठी है। इस कानून की आवश्यकता इसलिए है क्योंकि इसके अभाव में ई-सिगरेट के आयात पर प्रतिबंध लगाना पूरी तरह संभव नहीं है। यदि बगैर वैधानिक उपायों के ई-सिगरेट के आयात पर प्रतिबंध लगाया गया तो यह वैश्विक व्यापार के मानदंडों के विपरीत होगा। इससे पहले भी स्वास्थ्य मंत्रलय ने इलेक्ट्रॉनिक निकोटीन डिलीवरी सिस्टम के आयात पर रोक लगाने के लिए अधिसूचना जारी करने की मांग वाणिज्य मंत्रलय से की थी। इस मांग में ई-सिगरेट के साथ लेवर्ड हुक्का नामक मादक पदार्थ भी शामिल था।