Raj Express
www.rajexpress.co
ऑनलाइन खेल
ऑनलाइन खेल|Priyanka Yadav - RE
राज ख़ास

सावधान! घातक हो सकती है यह प्रवृत्ति

घातक हो सकती है ऑनलाइन खेल की यह प्रवृत्ति, ऑनलाइन खेल की बढ़ती लत को हमारी आदत ने ही बढ़ावा दिया है। चाहे ब्लू व्हेल हो या अब टिकटॉक या फिर दूसरे खेल

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस। जब समस्या सामाजिक और मनोवैज्ञानिक नजरिए से सामने आती है, तब उसका उपचार भी इन्हीं दोनों मोर्चो पर खोजा जाना चाहिए। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम बच्चों को ऑनलाइन खेल से दूर रखें। अब लोगों में वैज्ञानिक समझ भी बढ़ने लगी है और इंटरनेट भी सर्वसुलभ हो गया है। ऑनलाइन खेल की बढ़ती लत को हमारी आदत ने ही बढ़ावा दिया है। चाहे ब्लू व्हेल हो या अब टिकटॉक या फिर दूसरे खेल। मनोविश्लेषक सिगमंड फ्रायड ने कहा था कि मनुष्य का मूल स्वभाव यह है कि वह चुनौतियों को स्वीकार करता है। जब उनसे पूछा गया कि जो आप कह रहे हैं, वैसा समाज में दिखता तो नहीं है, अधिकांश लोग तो चुनौती को देखकर भाग खड़े होते हैं, तो इसका कारण भी बताइए?

यह सुनकर फ्रायड बोले कि मनुष्य जब समझदार हो जाता है, तो वह यह भी समझने लगता है कि उसे कौन सी चुनौती स्वीकार करनी चाहिए और कौन सी नहीं। लेकिन बच्चों में यह समझ नहीं होती है। अत: वे कोई भी चुनौती स्वीकार कर लेते हैं। फ्रायड का यह विचार ऑनलाइन खेल की जद में फंस रहे बच्चों के संदर्भ में बिल्कुल सटीक है। ब्लू ह्वेल के कारण दुनिया में 250 से भी ज्यादा लोगों ने खुदकुशी कर ली और इनमें 90 फीसदी से भी अधिक बच्चे हैं, 13 से 17 वर्ष तक के बच्चे। समस्या सामाजिक और मनोवैज्ञानिक हैं, इसलिए उसका उपचार भी इन्हीं दोनों मोर्चो पर खोजा जाना चाहिए। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम बच्चों को ऑनलाइन खेल से दूर रखें। अब लोगों में वैज्ञानिक समझ भी बढ़ने लगी है और इंटरनेट भी सर्वसुलभ हो गया है।