Raj Express
www.rajexpress.co
अमेरिका में PM मोदी का जलवा!
अमेरिका में PM मोदी का जलवा!|Social Media
राज ख़ास

अमेरिका में PM मोदी का जलवा!

ह्यूस्टन में भारत की ताकत का जो नजारा पूरी दुनिया ने देखा, वह हर भारतीय को गर्व से भर देने वाला है। हाउडी मोदी के मंच पर मोदी-ट्रंप की केमेस्ट्री देख वहां मौजूद हर कोई दंग रह गया

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

"ह्यूस्टन में भारत की ताकत का जो नजारा पूरी दुनिया ने देखा, वह हर भारतीय को गर्व से भर देने वाला है। हाउडी मोदी के मंच पर मोदी-ट्रंप की केमेस्ट्री देख वहां मौजूद हर कोई दंग रह गया। इस सबके पीछे की बड़ी वजह भारत-अमेरिका के गहरे होते रिश्ते हैं "

राज एक्सप्रेस। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को एनआरजी स्टेडियम में जोश और जज्बे से भरपूर 50 हजार लोगों और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मौजूदगी में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले से बौखलाए पाकिस्तान पर करारा वार किया। अमेरिकी धरती से पीएम ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर तंज कसते हुए कहा, कुछ लोग ऐसे हैं, जिन्हें अनुच्छेद 370 से दिक्कत है। जिनसे अपना देश संभल नहीं रहा है। ये वे लोग हैं जो अशांति चाहते हैं, आतंक के समर्थक हैं, आतंक को पालते पोसते हैं, उनकी पहचान सिर्फ आप ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया अच्छे से जानती है।

इन लोगों ने भारत के प्रति नफरत को ही अपनी राजनीति का केंद्र बना लिया है। पाक का नाम लिए बगैर उस पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा, अमेरिका में 9/11 हो या फिर भारत में 26/11, उसके साजिशकर्ता कहां पाए जाते हैं? उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक बिरादरी को आगे आने की अपील करते हुए कहा, साथियों अब समय आ गया है कि आतंकवाद के खिलाफ और आतंकवाद को बढ़ावा देने वालों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ी जाए। उन्होंने कहा, आतंक के खिलाफ ट्रंप हमारे साथ हैं।

आतंकवाद को लेकर मोदी और ट्रंप पहले भी पाक को दोटूक सुना चुके हैं। आतंकवाद को लेकर मोदी ने पाक को जो सुनाया, उस पर उसे मिर्ची लगनी ही थी। पाकिस्तानी रेल मंत्री फवाद चौधरी का बयान आ गया। फवाद कहने लगे कि लाखों रुपए खर्च करने के बाद भी मोदी जनता का निराशाजनक शो। ये सिर्फ यही कर सकते हैं यूएसए, कनाडा व दूसरी जगहों से लोगों को इकट्ठा कर सकते हैं, लेकिन यह दिखाता है कि पैसों से सब कुछ नहीं खरीदा जा सकता। फवाद का यह बयान तब आया, जब उनके प्रधानमंत्री इमरान अमेरिका में बेइज्जती झेल रहे थे।

अमेरिका पहुंचने पर एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भव्य स्वागत हुआ। दरअसल, इमरान जब सऊदी के विमान से न्यूयॉर्क पहुंचे तो स्वागत करने के लिए कोई बड़ा अमेरिकी अधिकारी नहीं था। पाक को शर्मिंदगी उस वक्त हुई जब इमरान के आगे रेड कार्पेट भी लगभग एक फुट का ही बिछा था। खैर, यह पाकिस्तान है, आदत से बाज नहीं आएगा। मगर ह्यूस्टन में भारत की ताकत का जो नजारा पूरी दुनिया ने देखा, वह हर भारतीय को गर्व से भर देने वाला है।

हाउडी मोदी के मंच पर मोदी और ट्रंप की कमेस्ट्री देख हर कोई दंग था। न कोई प्रोटोकॉल था और न ही कोई विदेश नीति की बाधा। दोनों मिले तो दोस्त की तरह। बातें की तो एक-दूसरे की भलाई के लिए। दोनों ही नेताओं ने एक दूसरे की जमकर तारीफ की। पीएम मोदी ने ट्रंप के लिए चुनाव प्रचार तक किया। इस सब के अंत में पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप ने एक-दूसरे का हाथ थामकर पूरे स्टेडियम का पैदल चक्कर लगाया। इस सबके पीछे की वजह भारत-अमेरिका के गहरे होते रिश्ते हैं।