Raj Express
www.rajexpress.co
ट्रंप को कश्मीर की चिंता क्यों
ट्रंप को कश्मीर की चिंता क्यों|Syed Dabeer Hussain - RE
राज ख़ास

ट्रंप को कश्मीर की चिंता क्यों

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर कश्मीर पर मध्यस्थता का राग अलापा है। डोनाल्ड ट्रंप का यह रुख ऐसे समय सामने आया है, जब दूसरे सभी देश इस मुद्दे पर खुद को अलग रखे हैं।

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस

राज एक्सप्रेस। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर कश्मीर पर मध्यस्थता का राग अलापा है। ट्रंप का यह रुख ऐसे समय सामने आया है, जब दूसरे सभी देश इस मुद्दे पर खुद को अलग रखे हैं। आखिर ट्रंप को कश्मीर की चिंता क्यों सता रही है, यह सवाल है। कश्मीर से धारा-370 हटाने के मुद्दे पर भले ही पूरी दुनिया भारत के साथ हो, मगर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नीति माहौल को बिगाड़ने का काम कर रही है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता की बात कही है। इससे एक दिन पहले उन्होंने फोन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से बात की थी। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह प्रधानमंत्री मोदी के समक्ष सप्ताहांत में यह मुद्दा उठाएंगे। ट्रंप ने कहा, कश्मीर एक बेहद जटिल जगह है। यहां हिंदू हैं और मुसलमान भी हैं। मैं नहीं कहूंगा कि उनके बीच काफी मेलजोल है। मध्यस्थता के लिए जो भी बेहतर होगा मैं वो करूंगा।

इससे पहले फोन पर हुई बातचीत में ट्रंप ने इमरान खान से कहा था कि कश्मीर पर भारत के खिलाफ बयान बाजी में एहतियात बरते। उन्होंने स्थिति को मुश्किल बताते हुए दोनों पक्षों से संयम बरतने को कहा था। ट्रंप ने सोमवार को प्रधानमंत्री मोदी से करीब 30 मिनट तक बात की थी। इसके बाद उन्होंने इमरान खान से बात की थी। ट्रंप का ताजा बयान ऐसे समय पर आया है, जब पूरी दुनिया भारत के साथ है। यहां तक की चीन और पाक की नापाक साजिश को संयुक्त राष्ट्र भी ठुकरा चुका है।

भारत सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद से ही पाकिस्तान में बैचेनी का माहौल है। वह अंतरराष्ट्रीय मंचों से लेकर अपने तमाम सहयोगी देशों से इस मुद्दे पर हस्तक्षेप करने का आह्वान कर चुका है। सभी देशों ने भारत के इस कदम को देश का आंतरिक मामला बताया है। अब बांग्लादेश के विदेश मंत्रालय ने भारत के इस कदम को सही ठहराया है। साथ ही फ्रांस ने पाक से कहा कि इसे लेकर तनाव न बढ़ाएं। बांग्लादेश का कहना है कि भारतीय सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को हटाना भारत सरकार का आंतरिक मुद्दा है।

बांग्लादेश ने कहा कि, हम हमेशा से क्षेत्रीय शांति और स्थिरता बनाए रखने वाले सिद्धांत के बात की वकालत की है। सभी देशों के लिए विकास प्राथमिकता होनी चाहिए। सभी देशों को चाहिए कि वह अपने विवादों को सुलझाकर विकास पर ध्यान दें। अब पता नहीं क्यों ट्रंप को कश्मीर समस्या हल करने की चिंता बढ़ रही है। अकेले पाकिस्तान के कहने भर से डोनाल्ड ट्रंप जिस तरह की उत्सुकता दिखा रहे हैं, वह सही नहीं है। पाकिस्तान हमेशा से कश्मीर मुद्दे पर भारत को परेशान करता रहा है।

अब वह अमेरिका को साथ लेकर भारत के सामने दिक्कतें खड़ी कर रहा है। डोनाल्ड ट्रंप ने भी इस चीज को समझते हैं, मगर दुनिया के सामने महान बनने की हसरतें उन्हें बार-बार कश्मीर की वादियों में खोने को मजबूर कर रही हैं। यह जाने बिना कि भारत कभी मध्यस्थता की बात स्वीकार नहीं करेगा। ट्रंप को यह बात ध्यान में जरूर रखनी चाहिए कि जिस मुद्दे से सभी देश किनारा कर चुके हैं, वे उसमें दखल देना बंद करें। कहीं पाक को खुश करने के चक्कर में भारत से बैर न ले लें।