#15yearsofDhonism: मैदान पर धोनी को फिर देखना चाहते हैं फैंस
#15yearsofDhonism: मैदान पर धोनी को फिर देखना चाहते हैं फैंस|Syed Dabeer - RE
खेल

#15yearsofDhonism: मैदान पर धोनी को फिर देखना चाहते हैं फैंस

आज भारतीय टीम के महानतम पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने क्रिकेट जगत में 15 साल पूरे कर लिए हैं। आज ही के दिन 23 दिसंबर को उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। आज भारतीय टीम के महानतम पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने क्रिकेट जगत में 15 साल पूरे कर लिए हैं आज ही के दिन 23 दिसंबर को उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था। महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट जगत में ऐसा नाम है जिन्होंने भारतीय टीम को उस मुकाम तक पहुंचाया, जहां आज तक कोई भी कप्तान न पहुंच सका, उन्होंने भारतीय टीम को आईसीसी के 3 बड़े टूर्नामेंट में विजय दिलाई है। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने 2007 का T20 वर्ल्ड कप जीता, जिसके बाद उन्होंने 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जिताकर एक बड़ी सफलता हासिल की। धोनी अभी यहीं नहीं रुके इसके बाद उन्होंने आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब भी भारतीय टीम को दिलाया। उनकी कप्तानी का हुनर इतना शानदार था कि आज भी लोग उन्हें मैदान पर मिस कर रहे हैं और क्रिकेट जगत से लेकर हर इंसान यही चाहता है कि वह फिर से क्रिकेट मैदान पर वापसी करें। 2019 वर्ल्ड कप के बाद से ही महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट मैदान पर नहीं उतरे हैं।

टेस्ट क्रिकेट से लिया संन्यास टी20 और वनडे में अभी भी उम्मीदें कायम

भारतीय क्रिकेट जगत के सफलतम कप्तानों में महेंद्र सिंह धोनी की गिनती की जाती है। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट से साल 2014 में संन्यास ले लिया था, लेकिन वह टी20 और वनडे में खेलने के लिए अभी भी मौजूद हैं। भारत के खेल प्रशंसकों और सभी लोगों को यह उम्मीद है कि, वह जल्द ही क्रिकेट मैदान पर वापसी करेंगे। वे पिछले कुछ महीनों से क्रिकेट से दूरी बनाए हुए हैं और उन्होंने यहां तक कहा है कि वे जनवरी तक इस बात का फैसला करेंगे।

बांग्लादेश के खिलाफ हुआ था डेब्यू

भारतीय क्रिकेट टीम के शानदार विकेटकीपर और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी खेल प्रतिभा को दिखाते हुए पहले जूनियर क्रिकेट टीम से बिहार क्रिकेट टीम, झारखंड क्रिकेट टीम से लेकर टीम इंडिया और फिर भारतीय टीम का सफर तय किया। उन्होंने 1996 में जूनियर क्रिकेट से शुरुआत की थी साल 2004 में उन्होंने 23 दिसंबर को बांग्लादेश के खिलाफ वनडे क्रिकेट में आगाज किया। इस सीरीज में भी खास प्रदर्शन नहीं कर पाए और ऐसी अटकलें थी कि, अब वे वापसी नहीं कर पाएंगे लेकिन सौरव गांगुली ने उन पर भरोसा दिखाया और फिर उनकी पाकिस्तान के खिलाफ वापसी हुई और वह वापसी ऐसी हुई कि फिर पीछे मुड़कर महेंद्र सिंह धोनी ने कभी नहीं देखा। उन्होंने पाकिस्तान से हुई सीरीज में एक वनडे मुकाबले में 123 गेंदों पर 148 रनों की पारी खेली थीं, यही वह पारी थी जिसके बाद सब की जुबां पर धोनी - धोनी का नाम आने लगा।

2008 में संभाली टीम की कप्तानी

महेंद्र सिंह धोनी ने 2008 में भारतीय क्रिकेट टीम की कमान संभाली उनके पास बेहद नए खिलाड़ी थे और कुछ ऐसे खिलाड़ी भी थे जो क्रिकेट जगत में सबसे महानतम माने जाते थे। उन्होंने टीम को एक नई दिशा देनी थी, उन्होंने टीम के लिए बेहद नए बदलाव किए और टीम को नए मुकाम तक पहुंचाया। अपनी कप्तानी की शुरुआत में ही उन्होंने T20 वर्ल्ड कप जिताया फिर 4 साल के अंतराल के बाद 2011 में वर्ल्ड कप भी जिताया। साथ ही उनकी कप्तानी में भारत टेस्ट क्रिकेट में नंबर वन का खिताब पाने में सफल हुआ।

आज महेंद्र सिंह धोनी के क्रिकेट जगत में 15 साल पूरे होने पर सभी लोग उनकी वापसी की उम्मीद लगा रहे हैं। अब देखना यह है कि महेंद्र सिंह धोनी की वापसी कितनी जल्दी होती है। टीम के कोच रवि शास्त्री भी ऐसा मानते हैं कि, उनका ब्रेक लेना सही है और वह भी उन्हें जल्द ही वापसी करते हुए देखना चाहते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co