भारत में विश्व कप खेलना सपने के सच होने जैसा : अभिषेक
भारत में विश्व कप खेलना सपने के सच होने जैसा : अभिषेकSocial Media

भारत में विश्व कप खेलना सपने के सच होने जैसा : अभिषेक

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के युवा फॉरवर्ड अभिषेक ने कहा कि स्वदेश में विश्व कप खेलना सपने के सच होने जैसा है और वह इसके लिये बहुत उत्साहित हैं।

राउरकेला। भारतीय पुरुष हॉकी टीम के युवा फॉरवर्ड अभिषेक ने कहा कि स्वदेश में विश्व कप खेलना सपने के सच होने जैसा है और वह इसके लिये बहुत उत्साहित हैं। एफआईएच हॉकी प्रो लीग के पिछले सत्र में पदार्पण करने वाले 23 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा, भारत के लिए स्वदेश में विश्वकप खेलना सपने के सच होने जैसा है। मैं इसके लिए बहुत उत्साहित हूं, लेकिन मैं थोड़ा घबराया हुआ भी हूं। न सिर्फ यह मेरा पहला विश्व कप होगा, बल्कि इतनी बड़ी भीड़ के सामने खेलने का पहला अनुभव भी होगा। ओडिशा के लोग हॉकी को लेकर बहुत जोशीले हैं और उनके सामने खेलना मेरे लिये बहुत बड़ा अनुभव होगा।

अभिषेक ने हॉकी का सफर हरियाणा के सोनीपत में 11 वर्ष की आयु में शुरू किया था। अपने एक दोस्त को हॉकी खेलता देख उन्होंने भी कोच शमशेर सिंह के अधीन रहकर खेल सीखना शुरू कर दिया था। अभिषेक ने बताया, अपने स्कूल से शुरू करने के बाद, मुझे राष्ट्रीय हॉकी अकादमी, दिल्ली में चुना गया और 2013-2015 के बीच राष्ट्रीय चैंपियनशिप में हरियाणा के लिये खेलने के बाद मैंने जूनियर कैंप में जगह अर्जित की थी। अभिषेक उस भारतीय टीम का हिस्सा थे, जिसने बंगलादेश में अंडर-18 एशियाई कप 2016 जीता था। उन्होंने फाइनल में मेजबान टीम के खिलाफ टीम की 5-4 से जीत में विजयी गोल किया, हालांकि वह आगे नहीं बढ़ सके और उन्हें जूनियर राष्ट्रीय कैंप से बाहर कर दिया गया।

उन्होंने कहा, मैं जूनियर विश्व कप 2016 में जगह नहीं बना पाया क्योंकि मेरी उम्र कम थी। मुझे जूनियर राष्ट्रीय कैंप से बाहर कर दिया गया जो मेरे लिये बहुत ही निराशाजनक था। लगभग तीन साल बाद अभिषेक की मेहनत रंग लाई और पंजाब नेशनल बैंक को पहली हॉकी इंडिया इंटर-डिपार्टमेंट राष्ट्रीय चैंपियनशिप 2021 में तीसरा स्थान हासिल करवाने के बाद उन्हें राष्ट्रीय कैंप में तलब किया गया। अभिषेक ने कहा, वह तीन साल मेरे लिये चुनौतीपूर्ण थे, लेकिन मेरे कोच और विभाग ने मेरा पूरा समर्थन किया। उन्होंने मुझे उस कठिन दौर से उबरने में मदद की और 2021 में एक अच्छा घरेलू सीजन गुजरने के बाद मुझे मुख्य समस्याओं के लिए चुने जाने का भरोसा था।

हरियाणा से आने वाले 23 वर्षीय फॉरवर्ड ने एफआईएच हॉकी प्रो लीग 2021/22 में तीसरे स्थान पर रहने वाली और बर्मिंघम 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने वाली भारतीय टीम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। अब वह विश्व कप में भी भारत को पदक जिताने के लिये उत्सुक हैं। अभिषेक ने कहा, राष्ट्रमंडल खेलों के बाद मेरा परिवार अब विश्व कप में पदक के लिये आशान्वित है। पूरा देश इसकी उम्मीद कर रहा है। मुझे विश्वास है कि हम चुनौती के लिए पूरी तरह से तैयार हैं और हम अपने देश को गौरवान्वित करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करेंगे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co