अपना दिन होने पर किसी को भी मात दे सकता है अफ़ग़ानिस्तान
अपना दिन होने पर किसी को भी मात दे सकता है अफ़ग़ानिस्तान Social Media

अपना दिन होने पर किसी को भी मात दे सकता है अफ़ग़ानिस्तान

कोरोना महामारी के कारण अफ़ग़ानिस्तान ने हाल में अधिक टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेले हैं, लेकिन जब भी वे मैदान पर उतरे हैं, सफलता के झंडे गाड़े हैं।

दुबई। हाल के कुछ महीनों में अफ़ग़ानिस्तान के घरेलू हालात ठीक नहीं रहे हैं। देश पर तालिबान का शासन है और अमेरिका ने अपनी सेना पूरी तरह से हटा ली है। इससे अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट भी प्रभावित हुआ है। तालिबान शासन ने अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट को महिला टीम उतारने से मना किया है। इसका दूसरे देशों ने संज्ञान लिया है और ऑस्ट्रेलिया ने तो अफ़ग़ानिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच रद्द करने की बात तक कह दी है।

उनका विश्व कप में भी खेलना थोड़ी देर के लिए संदिग्ध लग रहा था, लेकिन अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने उन्हें राहत दी है। तालिबान शासन के आने के बाद अफ़ग़ानिस्तान का पाकिस्तान दौरा स्थगित हुआ है, वहीं राशिद खान ने टी20 की कप्तानी से इस्तीफ़ा दिया है। हालांकि आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष आठ में होने के कारण अफ़ग़ानिस्तान को सीधा मुख्य राउंड में खेलना है। इससे पता चलता है कि अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट ने पिछले एक दशक में अपने आप को कितना विकसित किया है।

कोरोना महामारी के कारण अफ़ग़ानिस्तान ने हाल में अधिक टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेले हैं, लेकिन जब भी वे मैदान पर उतरे हैं, सफलता के झंडे गाड़े हैं। उन्होंने नवंबर 2019 में वेस्टइंडीज को 2-1 से हराया था, फिर आयरलैंड को मार्च 2020 में इसी अंतर से हराया। इस साल मार्च में उन्होंने ज़िम्बाब्वे को 3-0 से हराकर क्लीन स्वीप किया।

अफ़ग़ानी टीम की निरंतरता एक सवाल का विषय है। हालांकि रहमानउल्लाह गुरबाज जैसे शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के उभार से यह कमी दूर होनी चाहिए। वह आयरलैंड के खिलाफ पिछले साल प्लेयर ऑफ़ द सीरीज हुए थे। इसके बाद उन्होंने इस साल ज़िम्बाब्वे के खिलाफ सात छक्कों की मदद से 45 गेंदों में 87 रन बनाए। अगर रहमानउल्लाह फ़ॉर्म में रहते हैं तो मध्यक्रम में नजीबउल्लाह जदरान को आजादी से खेलने का मौक़ा मिलेगा। इसके अलावा अनुभवी असग़र अफग़ान और कप्तान मोहम्मद नबी तो हैं ही।

अगर गेंदबाजी की बात की जाए तो भले ही राष्ट्रीय टीम ने अधिक क्रिकेट नहीं खेला हो, लेकिन आईपीएल में खेल चुके लेग स्पिनर राशिद खान, मुजीब-उर-रहमान और मोहम्मद नबी लगातार फ़्रैंचाइजी क्रिकेट खेलकर टच में हैं। तेज गेंदबाजी का दारोमदार नवीन-उल-हक़, करीम जनत और अनुभवी हामिद हसन (34 वर्ष) के हवाले होगा, जिन्हें टीम में वापस बुलाया गया है।

विश्व कप के लिए अफ़ग़ानी दल : मोहम्मद नबी (कप्तान), राशिद खान, मुजीब-उर-रहमान, रहमानउल्लाह गुरबाज (विकेटकीपर), करीम जनत, हजरतउल्लाह जजई, गुलबदीन नईब, उस्मान घनी, नवीन-उल-हक़, असगऱ अफ़ग़ान, हामिद हसन, नजीबउल्लाह जदरान, हशमतउल्लाह शाहिदी, मोहम्मद शहजाद (विकेटकीपर), फरीद अहमद।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co