कोरोना से मरे 2 पूर्व हॉकी खिलाड़ियों के परिवारों को 5 लाख रु. देने की घोषणा
कोरोना से मरे 2 पूर्व हॉकी खिलाड़ियों के परिवारो को 5 लाख रुपए देने की घोषणाSocial Media

कोरोना से मरे 2 पूर्व हॉकी खिलाड़ियों के परिवारों को 5 लाख रु. देने की घोषणा

केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने गुरुवार को पूर्व हॉकी खिलाड़ी एमके कौशिक और रविंदर पाल सिंह के शोक संतप्त परिवारों को 5-5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है।

राज एक्सप्रेस। केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने गुरुवार को पूर्व हॉकी खिलाड़ी एमके कौशिक और रविंदर पाल सिंह के शोक संतप्त परिवारों को 5-5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है। दोनों खिलाड़ियों का पिछले हफ्ते कोरोना से निधन हो गया था।

रिजिजू ने ट्विटर पर कहा, '' हमने कोरोना से भारतीय हॉकी के दो पूर्व महान खिलाड़ियों को खो दिया है। एमके कौशिक जी और रविंदर पाल सिंह जी के भारतीय हॉकी में योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा। समर्थन भाव के तौर पर खेल मंत्रालय दोनों शोक संतप्त परिवारों को 5-5 लाख रुपए सौंप रहा है। दुख की इस घड़ी में हम उनके साथ खड़े हैं। "

उल्लेखनीय है कि दिवंगत कौशिक और रविंदर मॉस्को ओलंपिक 1980 में भारतीय हॉकी टीम की स्वर्ण पदक जीत का हिस्सा थे। एक खिलाड़ी के रूप में प्रशंसा हासिल करने के अलावा अर्जुन अवार्डी कौशिक ने सीनियर पुरुष एवं महिला टीम दोनों के साथ सफलता हासिल की थी। उनकी कोचिंग में भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने 1998 में बैंकॉक एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था, जबकि भारतीय महिला हॉकी टीम ने 2006 में दोहा एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता था। वह भारतीय पुरुष हॉकी टीम के सहायक कोच भी थे, जिसने 2014 में एशियाई खेलों में स्वर्ण जीता था। भारतीय हॉकी में उनके योगदान के लिए उन्हें 2002 में द्रोणाचार्य पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

दूसरी ओर रविंदर पाल सिंह ने दो ओलंपिक खेलों मॉस्को ओलंपिक 1980 और लॉस एंजेलिस ओलंपिक 1984 में भाग लिया था। भारतीय पुरुष हॉकी टीम के पूर्व सेंटर हाफ दिवंगत रविंदर पाल ने 1980 और 1983 मे कराची में चैंपियंस ट्रॉफी, 1982 में मुंबई में विश्व कप, 1982 में कराची में एशिया कप, 1983 में हांगकांग में रजत जयंती 10-राष्ट्र कप और अन्य टूर्नामेंटों में भी टीम का प्रतिनिधित्व किया था।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co