ऑस्ट्रेलिया ने फिर रद्द किया जोकोविच का वीजा
ऑस्ट्रेलिया ने फिर रद्द किया जोकोविच का वीजाSocial Media

ऑस्ट्रेलिया ने फिर रद्द किया जोकोविच का वीजा

ऑस्ट्रेलिया के आप्रवासन मंत्री एलेक्स हॉक ने आज वर्ष के पहले ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियाई ओपन से पहले दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच का वीजा फिर से रद्द कर दिया।

मेलबोर्न। ऑस्ट्रेलिया के आप्रवासन मंत्री एलेक्स हॉक ने शुक्रवार को वर्ष के पहले ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियाई ओपन से पहले दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच का वीजा फिर से रद्द कर दिया। हॉक ने एक बयान में कहा, ''आज मैंने प्रवासन अधिनियम की धारा 133 सी(3) के तहत अपनी विवेकाधीन शक्ति का इस्तेमाल करते हुए स्वास्थ्य और अच्छी स्थिति के आधार पर नोवाक जोकोविच को मिले वीजा को रद्द कर दिया। मैंने यह जनहित के लिए किया है। 10 जनवरी 2022 को फेडरल सर्किट और फैमिली कोर्ट के आदेशों का पालन करते यह निर्णय लिया गया है। यह निर्णय लेने से पहले मैंने गृह मंत्रालय, ऑस्ट्रेलियाई सीमा बल (एबीएफ) और जोकोविच द्वारा मुझे प्रदान की गई जानकारी पर ध्यान से विचार किया।"

बीबीसी के मुताबिक इस फैसले का मतलब है कि नंबर एक टेनिस खिलाड़ी को अब निर्वासन का सामना करना पड़ेगा, हालांकि वह अभी भी ऑस्ट्रेलिया में रहने के लिए एक और कानूनी चुनौती दे सकते हैं। उल्लेखनीय है कि पहली बार जोकोविच का वीजा छह जनवरी को रद्द किया गया था, जब उन्हें ऑस्ट्रेलिया पहुंचने पर देश में प्रवेश से वंचित कर दिया गया था। इसके पीछे जोकोविच के ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने में विफल रहने को वजह बताया गया था। इसके बाद उन्हें मेलबोर्न में अप्रवासी डिटेंशन होटल में भेज दिया गया था।

बाद में जोकोविच ने ऑस्ट्रेलियाई सरकार के इस फैसले को कोर्ट में चुनौती दी थी और 10 जनवरी को कोर्ट ने जोकोविच के पक्ष में फैसला सुनाया था। न्यायाधीशों ने जोकोविच को डिटेंशन सेंटर से तत्काल रिहा करने का आदेश दिया था, जिसके बाद जोकोविच ने ऑस्ट्रेलिया में ही रहने का फैसला किया। इस बीच गुरुवार को ऑस्ट्रेलियन ओपन के आयोजकों ने जोकोविच को उनके ऑस्ट्रेलिया में रहने को लेकर अनिश्चितताओं के बावजूद टूर्नामेंट के ड्रॉ में नामित किया और उन्हें पुरुष वर्ग में शीर्ष वरीयता दी गई।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.