कमिंस के लिए आसान नहीं होगी ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी
कमिंस के लिए आसान नहीं होगी ऑस्ट्रेलिया की कप्तानीSyed Dabeer Hussain - RE

कमिंस के लिए आसान नहीं होगी ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी

अत्यधिक संभावना है कि टिम पेन के इस्तीफ़ा देने के बाद कमिंस को ऑस्ट्रेलिया के अगले टेस्ट कप्तान के रूप में नामित किया जाएगा।

मेलबोर्न। पिछले सप्ताह के मध्य में पैट कमिंस से इस बात पर विचार व्यक्त करने को कहा गया था कि एशेज के दौरान ऑस्ट्रेलिया को अपने तेज गेंदबाजों को रोटेट करना चाहिए या नहींं। जवाब में उन्होंने कहा कि सभी तेज गेंदबाजों के पांच टेस्ट खेलने की संभावना नहीं है। मैं निश्चित रूप से आराम करने या टीम से बाहर रहने के बारे में तब तक नहीं सोचूंगा जब तक मेरा फ़ॉर्म और फिटनेस सही चलता रहता है। आने वाले दिनों में अत्याधिक संभावना है कि टिम पेन के इस्तीफ़ा देने के बाद कमिंस को ऑस्ट्रेलिया के अगले टेस्ट कप्तान के रूप में नामित किया जाएगा। इसके बाद गेंदबाजी में रोटेशन के बारे में चर्चा कम हो जाएगी।

कमिंस की कहानी का एक उल्लेखनीय हिस्सा यह है कि वह ऑस्ट्रेलिया के सबसे टिकाऊ तेज गेंदबाज बन गए हैं। 2017 में टेस्ट क्रिकेट में उनकी वापसी के बाद से केवल स्टुअर्ट ब्रॉड, जेम्स एंडरसन, नेथन लायन और आर अश्विन ने उनसे अधिक ओवर फेंके हैं। उनके शानदार पदार्पण के बाद उन्हें छह साल के लिए टेस्ट क्रिकेट में हिस्सा लेने का मौक़ा नहीं मिला था। हालांकि एक बात तय है कि अब उस टिकाऊपन की परीक्षा और समीक्षा दोनों होगी।

हाल ही में इस बात के प्रमाण मिले हैं कि कमिंस बैक टू बैक पांच टेस्टों के दबाव का सामना कर सकते हैं जो दिसंबर की शुरुआत से जनवरी के मध्य तक होने वाले हैं। वह 2019 एशेज में सभी पांच टेस्ट खेलने वाले ऑस्ट्रेलिया के एकमात्र तेज गेंदबाज थे। हालांकि इंग्लैंड में परिस्थितियां उतनी ज्यादा मुश्किल नहीं हैं। अगर उनकी पदोन्नति तय है, तो यह ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट और कमिंस, दोनों के लिए एक अज्ञात दुनिया में एक यात्रा की तरह होगा। किसी भी प्रारूप में ऑस्ट्रेलिया के पुरुष पक्ष की कप्तानी करने वाले पिछले तेज गेंदबाज रे लिंडवॉल थे जिन्होंने 1956 में एक टेस्ट के लिए ऐसा किया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.