Raj Express
www.rajexpress.co
टेलीकॉम कंपनी से अनुबंध के चलते फसे बांग्लादेशी कप्तान
टेलीकॉम कंपनी से अनुबंध के चलते फसे बांग्लादेशी कप्तान |Social Media
खेल

टेलीकॉम कंपनी से अनुबंध के चलते फसे बांग्लादेशी कप्तान

बांग्लादेश क्रिकेट टीम के कप्तान शाकिब अल हसन की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं, उन पर सेंट्रल सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट का उल्लंघन करने के साथ ही टेलीकॉम कंपनी से अनुबंध करने के आरोप लग रहे हैं।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। बांग्लादेश क्रिकेट टीम के कप्तान शाकिब अल हसन की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं, उन पर सेंट्रल सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट का उल्लंघन करने के साथ ही टेलीकॉम कंपनी से अनुबंध करने के आरोप लग रहे हैं जिसके चलते बीसीबी (BCB) ने उनको फरमान भेज दिया है। बीसीबी ने साफ कर दिया है कि इस तरह के रवैया को माफ नहीं किया जाएगा और हसन को कारण बताना होगा कि उन्होंने इस तरह का अनुबंध क्यों किया। अब हसन को जवाब देना होगा और अगर शाकिब सही जवाब ना दे सके और बोर्ड को जवाब सही नहीं लगता है तो उनके ऊपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बीसीबी के नियमों के मुताबिक कोई भी खिलाड़ी बिना इजाजत के किसी भी कंपनी से अनुबंध नहीं कर सकता ऐसा करने पर उस पर कानूनी कार्रवाई की जाने की व्यवस्था है।

बांग्लादेश की टेलीकॉम कंपनी जिसका नाम है 'ग्रामीणफोन' उसने 22 अक्टूबर को बांग्लादेशी क्रिकेटर शाकिब अल हसन को अपना ब्रांड एंबेसडर बनाने की घोषणा कर दी थी। इस बारे में पीसीबी के अध्यक्ष नजमूल हसन ने बताया कि शकीब अगर इस मामले पर सही जवाब ना दे पाते हैं तो उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी और साथ ही मुआवजा भी लिया जा सकता है।

बीसीबी के अध्यक्ष नजमूल हसन ने साफ कह दिया है कि रोबी टेलीकॉम बांग्लादेश क्रिकेट का स्पांसर था। लेकिन ग्रामीणफोन ने अपनी मनमर्जी के मुताबिक क्रिकेटर्स को ज्यादा पैसा देकर अपने नाम कर लिया। आखिर में इसका खामियाजा हमे भुगतना पड़ा और करीब 90 करोड़ का नुकसान बोर्ड ने उठाया।