क्रिकेट की शुरुआत और आईपीएल पर बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी का बयान
क्रिकेट की शुरुआत और आईपीएल पर बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी का बयान|Social Media
खेल

क्रिकेट की शुरुआत और आईपीएल पर बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी का बयान

बीसीसीआई (BCCI) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी (Rahul Johri) का मानना है कि क्रिकेट की शुरुआत अब मानसून के बाद होगी।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। बीसीसीआई (BCCI) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी (Rahul Johri) का मानना है कि क्रिकेट की शुरुआत अब मानसून के बाद होगी। उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग को लेकर भी कहा कि वह इसे लेकर सकारात्मक हैं, जौहरी ने क्रिकेट से जुड़े कई मुद्दों पर चर्चा की, इसमें उन्होंने खिलाड़ियों की सुरक्षा को सबसे ज्यादा तवज्जो दी है। बीसीसीआई के सीईओ ने यह भी माना कि इस संकट की घड़ी में यह खिलाड़ियों का व्यक्तिगत फैसला होगा कि उनके लिए सर्वश्रेष्ठ प्राथमिकता क्या है।

क्रिकेट की शुरुआत को लेकर क्या बोले राहुल जौहरी

बुधवार को बीसीसीआई सीईओ ट्वेंटी फर्स्ट सेंचुरी मीडिया द्वारा आयोजित वेबिनार का हिस्सा बने थे। जिसमें उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को अपनी सुरक्षा पर फैसला करने का अधिकार है और इसका सम्मान किया जाना चाहिए। इस पूरे मामले में भारत सरकार हमारा मार्गदर्शन कर रही है, हम सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करें। हम व्यवहारिक रूप से क्रिकेट गतिविधियां मानसून के बाद शुरू कर सकते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि उन्हें उम्मीद है कि सुधार होगा और इसके विकल्प भी मिलेंगे, जो हमारे नियंत्रण में होगा, हम उसके अनुसार फैसला लेंगे।

आईपीएल को लेकर क्या बोले बीसीसीआई सीईओ

आईपीएल के विषय पर बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी (Rahul Johri) का कहना है कि वह भारतीय खिलाड़ियों के साथ आईपीएल कराने के पक्ष में नहीं है। सुरक्षा और यात्रा पाबंदियों के चलते भारतीय खिलाड़ियों के साथ आईपीएल कराने की बात सामने आई थी, लेकिन उन्होंने कई समस्याओं के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि आईपीएल का मजा यही है कि दुनिया भर के खिलाड़ी इसमें शामिल होते हैं और हमे इस महत्व को कायम रखना होगा। उन्होंने यह भी साफ किया कि हम बहुत जल्द हालात बदलने की उम्मीद नहीं कर सकते।

सरकार के क्या निर्देश होंगे, इस पर भी ध्यान देना होगा

इस बातचीत में राहुल जौहरी (Rahul Johri) ने आगे यह कहा कि हमें देखना होगा कि सरकार हमें क्या निर्देश देती है। अभी यात्रा पाबंदियां है, एक समय विमान सेवा शुरू होगी और खेल शुरू होने से पहले सभी को स्वयं को क्वारंटाइन भी करना होगा। इससे भी आयोजन पर फर्क पड़ेगा, क्योंकि कार्यक्रम पहले से ही काफी व्यस्त है।

यहां राहुल जौहरी (Rahul Johri) ने यह साफ किया कि जब किसी आयोजन में खिलाड़ी 14 दिन के लिए क्वारंटाइन होंगे, तो इसका क्या असर पड़ेगा। इस मसले पर भी बोर्ड को देख कर चलना होगा। भारत में काफी लंबा घरेलू सत्र होता है। जहां साल में अक्टूबर से मई तक 2000 से ज्यादा मुकाबले होते हैं।

घरेलू क्रिकेट पर जोर देंगे, नयापन बड़ा पहलू होगा

राहुल जौहरी (Rahul Johri) ने महामारी के इस बदलते माहौल में घरेलू क्रिकेट पर जोर देने की बात कही है। उनका मानना है कि घरेलू क्रिकेट पर पूरी तरह दोबारा गौर करने की जरूरत है। उन्होंने उदाहरण के रुप में कहा कि टीम और खिलाड़ियों को मैच खेलने के लिए लंबा सफर तय करना पड़ता है। सभी टीमें अलग-अलग जगह पर विरोधी टीम से भिड़ती है और इस समय यात्रा पाबंदी है। आप कैसे इस समय क्रिकेट लीग को संभव बना सकते हैं।

उन्होंने इस बातचीत में यह भी माना कि हमारी काफी चर्चा हुई है, जिसमें आगे और भी विकल्प सामने आएंगे, जिसमें नयापन बड़ा पहलू होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co