Raj Express
www.rajexpress.co
बीसीसीआई कराएगा केपीएल स्पॉट फिक्सिंग की निष्पक्ष जांच
बीसीसीआई कराएगा केपीएल स्पॉट फिक्सिंग की निष्पक्ष जांच|Kavita Singh Rathore -RE
खेल

बीसीसीआई कराएगा केपीएल स्पॉट फिक्सिंग की निष्पक्ष जांच

केपीएल स्पॉट फिक्सिंग में गिरफ्तार हुए सीएम गौतम और मिजोरम के कप्तान अबरार काजी, उन पर चल रहे केपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले पर बीसीसीआई की भी नजर रहेगी।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। केपीएल स्पॉट फिक्सिंग में गिरफ्तार हुए विकेटकीपर सीएम गौतम और मिजोरम के कप्तान अबरार काजी जो पूर्व में कर्नाटक के लिए खेला करते थे, उन पर चल रहे केपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले पर बीसीसीआई की भी नजर रहेगी। बीसीसीआई के भ्रष्टाचार निरोधी प्रमुख अजीत सिंह ने बताया कि बोर्ड अब इस पर जांच करेगा।

बेंगलुरू पुलिस ने इस मामले के ऊपर चार्जशीट दाखिल की है। इसकी पूरी जांच जब हो जाएगी हम उस चार्जशीट की कॉपी लेंगे, दूसरे जो भी लोग इसमें शामिल हैं, उनके खिलाफ हमने अपनी जांच भी शुरू की है। साथ ही हम सभी को अपने बचाव का अवसर भी देंगे, आखिर में बोर्ड जो भी आवश्यक कार्रवाई होगी उसका निर्णय लेगा।

बीसीसीआई के भ्रष्टाचार निरोधी प्रमुख अजीत सिंह ने आगे बताया कि हम पुलिस के संपर्क में हैं, हमें जो भी जरूरी जानकारी मिलेगी हम उसके हिसाब से कार्रवाई करेंगे। हम केवल खिलाड़ियों पर ही कार्रवाई कर सकते हैं, हमें सटोरियों के खिलाफ कार्रवाई करने का कोई हक नहीं है।

इस साल से बीसीसीआई राज्य में होने वाली लीगों पर नजर रखेगा और अब आने वाले केपीएल के सीजन में इस प्रकार के मसले देखने को नहीं मिलेंगे।

बीसीसीआई के पूर्व भ्रष्टाचार निरोधी प्रमुख नीरज कुमार ने बताया कि मैंने कई बार ऐसे कुछ मामलों को लेकर बोर्ड को जानकारी दी थी। लीगों में खेलने वाली टीम के मालिक संदिग्ध हो सकते हैं, टीम के मालिक खिलाड़ियों को प्रलोभन देकर कोई अच्छा सौदा जरूर कर सकते हैं, बीसीसीआई को इन सभी लीगों के मालिकों पर जांच करने की जरूरत है, बीसीसीआई टीम के मालिक बनने के लिए मापदंडों में किसी भी प्रकार की ढील नहीं दे सकता है।

इस स्पॉट फिक्सिंग मामले के बाद बीसीसीआई के क्रिकेट विकास प्रबंधक रत्नाकर शेट्टी ने भी अपनी बात कहते हुए कहा कि, इस बात पर जोर देना चाहिए कि इन लीगों को कैसे जारी रखा जाए।

बीसीसीआई को आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले के बाद सभी राज्यों में होने वाली टी-20 लीगों पर गंभीरता से कदम उठाने होंगे। इन लीगों में भाग लेने वाली टीमों के मालिकों की जांच होना बहुत जरूरी है, इन मामलों के कारण क्रिकेटर इनका शिकार बनते जा रहे हैं।

आपको बता दें स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों में शामिल टीम बेलगावी पैंथर्स की फ्रेंचाइजी को शुक्रवार को राज्य क्रिकेट बोर्ड ने निलंबित कर दिया है, बेलगावी टीम के मालिक अली अशफाक थारा उन 6 लोगों में शामिल हैं, जिन्हें अब तक की जांच के बाद फिक्सिंग और भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है। शुरूआती जांच के अनुसार कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ ने मालिकों की सदस्यता को खत्म कर दिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।