The Confederation of All India Traders (CAIT) Against Sachin Tendulkar
The Confederation of All India Traders (CAIT) Against Sachin Tendulkar|Social Media
खेल

सचिन के चीनी निवेश कंपनी के ब्रांड अंबेसेडर बनने पर CAIT को है नाराजगी

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज सचिन तेंदुलकर के खिलाफ कन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने मोर्चा खोल दिया है।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज सचिन तेंदुलकर के खिलाफ कन्फ़ेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने मोर्चा खोल दिया है। कैट के मुताबिक जब चीन-भारत के बीच एक तरह से शीत युद्ध चल रहा है, ऐसे में सचिन का किसी भी बड़े चीनी निवेश वाली कंपनी का ब्रांड अंबेसेडर बनना साफ तौर पर उनकी ज्यादा धन कमाने की इच्छा को दर्शाता है।

कैट (CAIT) ने सचिन तेंदुलकर को भेजा पत्र

कैट (CAIT) ने सचिन तेंदुलकर की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि उनको देश को यह जवाब देना चाहिए. कैट ने यह भी कहा कि सचिन के इस फैसले से न केवल देश भर के व्यापारी बल्कि प्रशंसक भी बेहद नाराज हैं। कैट ने कहा की हमने इस सम्बंध में सचिन तेंदुलकर को पत्र भेजकर अपना फ़ैसला बदलने का आग्रह किया है।

चीन निवेश वाली कंपनी का ब्रांड अंबेसेडर बनने में कोई शर्म नहीं

कैट (CAIT) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि, एक तरफ देश में एक बड़ी चीनी कंपनी भारत में जासूसी करती हुई पकड़ी जा रही है, वहीं दूसरी ओर सचिन तेंदुलकर जो अपने आपको भारत का बेटा कहते हैं, उन्हें चीन निवेश वाली कंपनी का ब्रांड अंबेसेडर बनने में कोई शर्म नहीं है।

हमारी वीर सेना का भी बड़ा अपमान

कैट (CAIT) द्वारा आगे कहा गया कि यह सीधे तौर पर हमारी वीर सेना का भी बड़ा अपमान है, जो विपरीत परिस्थितियों और मौसम में देश की सीमाओं पर तैनात रह कर देश की सुरक्षा में लगे हैं। सचिन देश और सेनाओं की हौसला अफजाई नहीं करते बल्कि वर्तमान में दुश्मन देश के पैसे से चल रही कम्पनियों के ब्रांड अंबेसेडर बन करोड़ों रुपए कमाने में ज़्यादा रूचि रखते हैं।

कैट (CAIT) ने नाराज़गी जताते हुए कहा की विज्ञापनों में आने वाली हस्तियां एक प्रकार से हमारे युवाओं के लिए रोल मॉडल है। अब भी समय है, जब देश के लोगों की भावनाओं का सम्मान करते हुए सचिन को ऐसी कम्पनियों का ब्रांड अंबेसेडर न बनने की घोषणा तुरंत करनी चाहिए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co