Chess Olympiad : भारत की महिला टीम ने अपना अजेय क्रम बरकरार रखा

मामल्लापुरम, तमिलनाडु : भारतीय महिला-ए टीम ने तमिलनाडु के मामल्लापुरम में जारी 44वें शतरंज ओलंपियाड में शुक्रवार को 14 अंकों के साथ महिला वर्ग में अपनी एकल बढ़त बनाए रखी है।
भारत की महिला टीम ने अपना अजेय क्रम बरकरार रखा
भारत की महिला टीम ने अपना अजेय क्रम बरकरार रखाNaval Patel - RE

मामल्लापुरम, तमिलनाडु। भारतीय महिला-ए टीम ने तमिलनाडु के मामल्लापुरम में जारी 44वें शतरंज ओलंपियाड में शुक्रवार को 14 अंकों के साथ महिला वर्ग में अपनी एकल बढ़त बनाए रखी है। इस टीम ने अपनी बढ़त को मजबूत करने की दिशा में छठी वरीयता प्राप्त अजरबैजान के खिलाफ जीत हासिल की। यह भारतीय टीम की लगातार सातवीं जीत है।

हालांकि, पहले गेम में हम्पी के हारने के बाद भारत-ए टीम को कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ा। लेकिन तानिया सचदेव और आर. वैशाली ने एक बार फिर टीम के लिए अहम योगदान देते हुए जीत हासिल करके टीम को मुश्किलों से निकाला जबकि हरिका द्रोणावल्ली ने भी इस अहम मुकाम पर ड्रा खेला।

वैशाली ने ड्रॉ की स्थिति में भी शानदार खेल दिखाया और अपने प्रतिद्वंद्वी पर सटीक सकारात्मक खेल का दबाव डाला और अंत में एक सुखद जीत हासिल करने में सफल रहीं। वैशाली ने बाद में कहा, "40 वें टर्न तक, मेरा खेल बराबरी पर था और मैंने ड्रॉ के लिए समझौता करने पर विचार किया था। हंपी के हारने के बाद, मुझे दबाव बनाए रखना पड़ा और दिलचस्प बात यह थी कि यह एक ऐसी स्थिति थी जिस पर हमने शिविर में बोरिस गेलफेंड के साथ काम किया था और मैंने 'टी' के उनके सुझावों का पालन किया।"

इस टूर्नामेंट में अब तक महिला ए टीम का हॉल मार्क हर खिलाड़ी की जीत हासिल करने की क्षमता रही है। टीम के हर खिलाड़ी ने उस समय अपना योगदान दिया है जब टीम को इसकी सबसे ज्यादा जरूरत रही है।

भारत-ए के कप्तान अभिजीत कुंटे ने कहा, "हरिका, वैशाली और तानिया ने इस दबाव की स्थिति में जिस तरह से खेलना जारी रखा वह बहुत ही सुखद है। खिलाड़ी स्थिति को अच्छी तरह समझते हैं और अच्छा प्रदर्शन करते हैं।"

इस बीच, ओपन सेक्शन में, भारत-ए ने उस समय लय पकड़ी जब इसकी जरूरत थी और हमवतन खिलाड़यिों से लैस भारत-सी में को 3-1 के स्कोर से हरा दिया। अर्जुन एरिगैसी ने अभिजीत गुप्ता को हराया और एस एल नारायणन ने अभिमन्यु पुराणिक को मात दी, जबकि पेंटाला हरिकृष्णा को सूर्य शेखर गांगुली ने ड्रॉ पर रोक दिया और इसी तरह एसपी सेथुरमन ने विदित को अंक विभाजित करने के लिए मजबूर किया।

छठे राउंड में आर्मेनिया से हारने के बाद भारत-बी ने क्यूबा के खिलाफ 3.5-0.5 के स्कोर के साथ शानदार वापसी की। उसकी इस जीत में डी गुकेश एक बार फिर हीरो बनकर उभरे। गुकेश ने टूर्नामेंट में लगातार सातवीं जीत दर्ज की। निहाल सरीन और आर. प्रज्ञानंद ने भी दो शानदार जीत के साथ खुशी मनाई जबकि अधिबन बी को ड्रॉ पर रोक दिया गया।

स्टार खिलाड़यिों से लैस अमेरिकी टीम को हालांकि एक और झटका लगा। आर्मेनिया ने उसे 2-2 से ड्रॉ पर रोक दिया और 13 अंकों के साथ अंक तालिका में शीर्ष पर अपनी एकल लीड जारी रखी। भारत-ए और भारत-बी, अमेरिका, उज्बेकिस्तान 12-12 अंकों के साथ पीछे चल रहे हैं। महिला वर्ग में भारत-बी ग्रीस के हाथों 1.5-2.5 से हार गया। दिव्या देशमुख ने भारत के लिए एकमात्र जीत हासिल की, जबकि वंतिका अग्रवाल और सौम्या स्वामीनाथन अपने-अपने मुकाबले में हार गईं। मैरी एन गोम्स को ड्रॉ से संतुष्ट रहना पड़ा। भारत महिला-सी टीम ने स्विटजरलैंड को 3-1 से हराया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co