Ravi Shastri, Mickey Arthur not Happy With  Four Day Test
Ravi Shastri, Mickey Arthur not Happy With Four Day Test |Ankit Dubey - RE
खेल

कोच शास्त्री और मिकी आर्थर ने भी किया चार दिवसीय टेस्ट का विरोध

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री और श्रीलंका टीम के कोच मिकी आर्थर चार दिवसीय के प्रस्ताव से खुश नहीं है।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) चार दिवसीय टेस्ट के प्रस्ताव से खुश नहीं है। उन्होंने एक समाचार एजेंसी से बातचीत में बताया कि

चार दिवसीय टेस्ट का प्रस्ताव बकवास है, अगर यह सही में इस्तेमाल किया जाएगा तो भविष्य में बनडे की तर्ज पर सीमित ओवरों के टेस्ट होने लगेंगे। पांच दिवसीय टेस्ट में बदलाव की कोई संभावना नहीं है। अगर आईसीसी इसमें छेड़छाड़ करना भी चाहे तो टेस्ट खेलने वाली टॉप 6 टीमों को इसमें शामिल नहीं करना चाहिए। जबकि रैंकिंग में नीचे की चार टीमें इस तरह के फॉर्मेट का इस्तेमाल कर सकती हैं।

रवि शास्त्री, कोच भारतीय क्रिकेट टीम

डे-नाईट टेस्ट को लेकर भी बोले रवि शास्त्री

अभी डे-नाईट टेस्ट की शुरुआत ही हुई है, आईसीसी (ICC) को इसके लिए सही गेंद चुननी चाहिए। मुझे लगता है कि फिरकी गेंदबाजों के लिए पिंक बॉल सही नहीं है और मदद भी नहीं करती, ऐसा में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद आईसीसी को पहले इसमें सुधार करना चाहिए। डे-नाईट टेस्ट का अभी भी परीक्षण जारी है।

रवि शास्त्री, कोच भारतीय क्रिकेट टीम

श्रीलंका टीम के कोच मिकी आर्थर भी रवि शास्त्री की बात से सहमत है।

खेल के सबसे लंबे प्रारूप से छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए। इसमें मानसिक शारीरिक और तकनीकी तौर पर खिलाड़ियों की असल परीक्षा का परीक्षण होता है खास तौर पर जब नतीजे आखिरी दिन आते हैं तो असली परीक्षा साबित होती है।

मिकी आर्थर, कोच श्रीलंका क्रिकेट टीम

भारतीय टीम के फिरकी गेंदबाज कुलदीप यादव ने भी इस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया है। उनका कहना है कि

अगर सच कहूं तो, पांच दिवसीय टेस्ट क्रिकेट को सबसे बड़ा मानूंगा। टेस्ट क्रिकेट 5 दिनों के लिए ही बना है और मैं इस में कोई भी बदलाव देखने का इच्छुक नहीं हूं। कोई भी चीज अगर क्लासिक होती है, तो उसे वैसा ही बने रहने देना चाहिए।

कुलदीप यादव,गेंदबाज भारतीय क्रिकेट टीम

आपको बता दें कि अनिल कुंबले के नेतृत्व में 27 से 31 मार्च 2020, दुबई में होने वाली आईसीसी की बैठक का अगला दौर चार दिवसीय टेस्ट के प्रस्ताव पर चर्चा के लिए रखा गया है।

कई दिग्गजों और महान खिलाड़ी कर रहे विरोध

इससे पहले चार दिवसीय टेस्ट के लिए कई दिग्गजों और महान खिलाड़ी विरोध कर चुके हैं। सभी का मानना है कि पुराने टेस्ट प्रारूप से कोई छेड़छाड़ नहीं की जानी चाहिए। टेस्ट क्रिकेट को चार दिवसीय बनाने के प्रस्ताव से कई खिलाड़ी सहमत नहीं थे, जिसमें सचिन तेंदुलकर, गौतम गंभीर, शोएब अख्तर, रिकी पोंटिंग, ग्लेन मैग्रा, जस्टिन लैंगर और इयान बॉथम जैसे पूर्व खिलाड़ी शामिल हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co