क्रिकेट के अनोखे नियम
क्रिकेट के अनोखे नियमSyed Dabeer Hussain - RE

क्रिकेट के इन अनोखे नियमों के बारे में नहीं जानते होंगे क्रिकेट प्रेमी

दुनियाभर में फैले क्रिकेट प्रशंसकों को क्रिकेट के नियमो के बारे में जानकारी होती है। लेकिन कुछ नियम ऐसे भी हैं, जिनके बारे में बहुत कम क्रिकेट प्रशंसकों को जानकारी होगी।

राज एक्सप्रेस। पिछले दिनों आईसीसी ने क्रिकेट के नियमों में महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। ये बदले हुए नियम 1 अक्टूबर 2022 से लागू हो जाएंगे। मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ही वह संस्था है, जो क्रिकेट के नियम बनाती है और समय-समय पर उसमें बदलाव भी करती है। आईसीसी भी एमसीसी के द्वारा बनाए गए नियमों को मानता है। एमसीसी ने अपनी किताब में क्रिकेट के नियमों को लेकर विस्तार से जानकारी दी है। क्रिकेट प्रेमियों को भी इन नियमों के बारे में जानकारी होती है। लेकिन आज हम क्रिकेट के कुछ ऐसे नियमों के बारे में जानेंगे, जिनकी जानकारी बहुत कम क्रिकेट प्रेमियों को होगी।

डेड बॉल :

यह तो हम सभी जानते ही हैं कि स्पाइडर कैमरे से गेंद टकराने पर उसे डेड बॉल घोषित कर दिया जाता है। लेकिन एमसीसी के नियमों के अनुसार अंपायर किसी भी ऐसी बॉल को डेड बॉल घोषित कर सकता है, जिसको लेकर क्रिकेट में कोई नियम नहीं है।

बिना गिल्लियों के मैच :

क्रिकेट में गेंद स्टंप पर टकराने के बावजूद बल्लेबाज को तब तक आउट नहीं माना जाता, जब तक कि स्टंप पर रखी गिल्लियां ना गिर जाए। लेकिन एमसीसी के नियमों के अनुसार अगर मैदान पर तेज हवा चल रही हो तो दोनों टीमों के कप्तान और अंपायर की सहमति से मैच बिना गिल्लियों के भी खेला जा सकता है। 9 जून 2017 को वेस्टइंडीज और अफगानिस्तान के बीच हुआ मैच भी तेज हवा के चलते बिना गिल्लियों के खेला गया था।

नो अपील, नो आउट :

एमसीसी के नियमों के अनुसार अंपायर बल्लेबाज के आउट होने पर भी तब तक उसे आउट नहीं दे सकता, जब तक कि फील्डिंग टीम की तरफ से अपील ना की जाए। हालांकि बल्लेबाज खेल भावना का आदर करते हुए खुद मैदान से बाहर निकल जाए तो बात अलग है।

बॉल हैंडलिंग :

एमसीसी के नियमों के अनुसार यदि कोई बल्लेबाज जानबूझकर गेंद पर हाथ मारता है या उसे रोकने की कोशिश करता है तो फील्डिंग टीम की अपील पर अंपायर उसे आउट दे सकता है। हालांकि बल्लेबाज ने ऐसा जानबूझकर किया या नहीं, यह तय करने का अधिकार अंपायर को होता है।

मैदान में पेड़ :

एमसीसी के नियमों के अनुसार अगर मैदान में पहले से पेड़ या अन्य कोई चीज मौजूद है तो ऐसी स्थिति में दोनों कप्तानों और अंपायरों की सहमति से उसे भी बाउंड्री माना जाता है। ऐसी स्थिति में उस पेड़ से गेंद टकराने पर बाउंड्री मानी जाती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co