हार से निराश हूं मगर लड़ना नहीं छाेड़ूंगा : राफेल नडाल
हार से निराश हूं मगर लड़ना नहीं छाेड़ूंगा : राफेल नडालSocial Media

हार से निराश हूं मगर लड़ना नहीं छाेड़ूंगा : राफेल नडाल

राफेल नडाल ने स्वीकार किया है कि वह चोटों के कारण मानसिक रूप से कमजोर हुए हैं मगर प्रशसंको को विश्वास दिलाते हैं कि वह अपने करियर को आगे बढ़ाते हुए जुझारू प्रवृत्ति को बरकरार रखेंगे।

मेलबर्न। आस्ट्रेलिया ओपन में अमेरिकी प्रतिद्धंदी मैकेंजी मैकडानल्ड से मिली हार से निराश राफेल नडाल ने स्वीकार किया है कि वह चोटों के कारण मानसिक रूप से कमजोर हुए हैं मगर दुनिया भर में अपने लाखों प्रशसंको को विश्वास दिलाते हैं कि वह अपने करियर को आगे बढ़ाते हुए जुझारू प्रवृत्ति को बरकरार रखेंगे। विश्व के नम्बर दो खिलाड़ी नडाल को अमेरिका के मैकेंजी मैकडानल्ड ने बुधवार को 6-4,6-4 और 7-5 से हराया, जिसके बाद नडाल का मौजूदा टूर्नामेट में सफर खत्म हो गया। नडाल दूसरे सेट के बाद हिप और लेग इंजरी से परेशान दिखने लगे थे, मगर इसके बावजूद उन्होंने पूरा मैच खेला। हालांकि हार के साथ उन्होने इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट से विदाई ली।

मैच के बाद नडाल ने कहा,“मैं अपनी चोट में इजाफा किये बगैर खेलना जारी रखता चाहता था। मै मैच को खत्म करना चाहता था। मैकेंजी ने उच्च स्तरीय खेल का प्रदर्शन किया। एक लंबे अरसे के बाद मैं अपने मौकों के लिये लड़ रहा था मगर नेट के दूसरी ओर मैकेंजी लाजवाब टेनिस खेल रहा था। मै उसके खिलाफ उम्दा प्रदर्शन नहीं कर पा रहा था और आखिर में मुझे मैच गंवाना पड़ा मगर मैने मैच के अंतिम लम्हे तक पूरी कोशिश की।” वर्ष 2009 और 2022 में आस्ट्रेलियन ओपन के विजेता का बांया कूल्हा पिछले कुछ समय से तकलीफ दे रहा है जिसके कारण उन्हे शाट खेलने में परेशानी हो रही है। जाहिर है, दर्द बढ़ने के साथ ही 22 बार के ग्रैंड स्लैम विजेता को संन्यास लेने के विचार आने लगे थे।

मैकेंजी को जीत की बधाई देते हुये नडाल ने कहा,“मैं चोट को और बढ़ाने के पक्ष में नहीं था और अपने मैच को खत्म करना चाहता था। हार के बावजूद मेरे प्रशसंकों ने खड़े होकर मेरा अभिवादन किया जो वाकई जोश भरने के लिये काफी था। आप सिर्फ आखिर तक अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश कर सकते हैं जो मैने किया। यही खेल का नियम है।मैंने अपने पूरे टेनिस करियर के दौरान इसका पालन करने की कोशिश की है।” उन्होंने कहा,“ मुझे टेनिस खेलना पसंद है। मुझे पता है कि यह हमेशा के लिए नहीं है मगर आपको चलते रहना होगा। कभी-कभी हार निराशाजनक होती है। कभी-कभी इसे स्वीकार करना मुश्किल होता है। कभी-कभी आप चोटों के मामले में इन सभी चीजों के बारे में बहुत थका हुआ महसूस करते हैं मगर इसका यह मतलब नहीं निकालना चाहिये कि मैं अपने जीवन के बारे में शिकायत कर रहा हूं। चोट खेल का हिस्सा हैं मगर मैने हिम्मत नहीं हारी है। मैं मानसिक तौर पर मजबूत बने रहने की कोशिश कर रहा हूं।” स्पेन के 36 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा,“ मैं उम्मीद करता हूं कि चोट के कारण मुझे लंबे समय तक कोर्ट से बाहर नहीं रहना पड़ेगा। मैं अपने करियर में कई बार इस प्रक्रिया से गुजरा हूं और मैं इसे जारी रखने के लिए तैयार हूं लेकिन यह आसान नहीं है, इसमें कोई संदेह नहीं है।”

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co