बंगलादेश टीम के सभी सदस्यों के नेगेटिव आने के बाद दौरे पर संदेह कम हुआ
बंगलादेश टीम के सभी सदस्यों के नेगेटिव आने के बाद दौरे पर संदेह कम हुआSocial Media

बंगलादेश टीम के सभी सदस्यों के नेगेटिव आने के बाद दौरे पर संदेह कम हुआ

बंगलादेश टीम के सभी सदस्यों के कोरोना नेगेटिव आने के बाद न्यूजीलैंड और बंगलादेश के बीच खेली जाने वाली दो मैचों की टेस्ट सीरीज को लेकर संदेह कम हो गया है।

वेलिंग्टन। बंगलादेश टीम के सभी सदस्यों के कोरोना नेगेटिव आने के बाद न्यूजीलैंड और बंगलादेश के बीच खेली जाने वाली दो मैचों की टेस्ट सीरीज को लेकर संदेह कम हो गया है। खिलाड़ियों के साथ न्यूजीलैंड में मौजूद बंगलादेश टीम के निदेशक खालिद महमूद ने सोमवार को बताया, ''हमने कल आखिरी कोरोना टेस्ट करवाया था, जिसका आज रिजल्ट आया और हम सभी नेगेटिव पाए गए हैं। हम कल मैनेज्ड आइसोलेशन एंड क्वारंटाइन सेंटर से बाहर आ सकते हैं और सुबह से लिंकन यूनिवर्सिटी ग्राउंड में अपना अभ्यास शुरू कर सकते हैं जहां हमें जिम की सुविधा भी मिलेगी। अभ्यास पूरा करने के बाद हम अपने टीम होटल में जाएंगे और सभी सामान्य गतिविधियां करेंगे।"

उल्लेखनीय है कि, बंगलादेश के स्पिन गेंदबाजी कोच रंगना हेराथ के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद पूरी बंगलादेश टीम को 21 दिसंबर तक कोई अभ्यास सत्र नहीं करने के लिए कहा गया था। वहीं टीम के सदस्यों को पिछले शुक्रवार को वापस क्वारंटीन में भेज दिया गया था। बंगलादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) ने तब एक बयान में कहा था कि अगर उन्हें न्यूजीलैंड के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा लगाए गए विस्तारित क्वारंटीन के कारण अपनी तैयारी से समझौता करना पड़ता है तो उन्हें इस सीरीज के बारे में फिर से सोचना होगा।

इस बीच क्रिकबज ने जानकारी दी है कि हेराथ 21 दिसंबर को टीम के सदस्यों के साथ नहीं होंगे, क्योंकि उन्हें अभी तक न्यूजीलैंड के स्वास्थ्य विभाग द्वारा उनसे जुड़ने की मंजूरी नहीं मिली है। एक अधिकारी ने हालांकि जोर देकर कहा है कि वह कोरोना नेगेटिव आने के बाद मंजूरी मिलते ही उपलब्ध होंगे। हेराथ के अलावा टेस्ट सेट-अप के आठ अन्य सदस्य, जो मलेशिया से न्यूजीलैंड के लिए उड़ान भरने वाले एक कोरोना पॉजिटिव शख्स के निकट संपर्क में होने के कारण क्वारंटीन में थे, भी नेगेटिव आए हैं।

उल्लेखनीय है कि बंगलादेश टीम ने न्यूजीलैंड में अनिवार्य क्वारंटीन पूरा करने के बाद 16 दिसंबर को एक बाहरी अभ्यास सत्र में भाग लिया था, लेकिन बाद में उन्हें अपने अभ्यास सत्र को रोकने और वापस मैनेज्ड आइसोलेशन एंड क्वारंटाइन सेंटर में जाने के लिए कहा गया। समझा जाता है कि न्यूजीलैंड सरकार इस मामले में कोई भी जोखिम नहीं लेना चाहती है, क्योंकि जो यात्री कोरोना पॉजिटिव था, वह ओमिक्रॉन से संक्रमित पाया गया था।

शेड्यूल के मुताबिक दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट मैच टोरंगा के बे ओवल में एक जनवरी से खेला जाएगा, जबकि दूसरा टेस्ट नौ जनवरी से क्राइस्टचर्च के हेगले ओवल में होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co