लगातार तीन हार के बाद मिली जीत ने सुकून दिया : डूप्लेसी
लगातार तीन हार के बाद मिली जीत ने सुकून दिया : डूप्लेसीSocial Media

लगातार तीन हार के बाद मिली जीत ने सुकून दिया : डूप्लेसी

फाफ डूप्लेसी ने चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ मिली जीत का बाद कहा कि हां, लगातार तीन हार के बाद निश्चित रुप से इस जीत ने हमें सुकून दिया।

पुणे। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के कप्तान फाफ डूप्लेसी ने चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ मिली जीत का बाद कहा कि हां, लगातार तीन हार के बाद निश्चित रुप से इस जीत ने हमें सुकून दिया। डूप्लेसी ने कहा, ''हमने बल्लेबाजी के दौरान पावरप्ले में अच्छी शुरुआत की थी। लेकिन इसके बाद हमने विकेट गंवाए। उन्होंने भी अच्छी गेंदबाजी की और फील्ड में भी अच्छा सहयोग दिया। विराट कोहली कभी भी जरुरत पड़ने पर मेरा सहयोग करते हैं, जो कि एक टीम के लिए बहुत अच्छी बात है। हम अभी नेट रन रेट के बारे में नहीं सिर्फ जीत के बारे में सोच रहे हैं।''

प्लेयर ऑफ द मैच बने तेज गेंदबाज हर्षल पटेल ने कहा, ''पहले ओवर में मैंने स्टंप की लाइन में स्लो गेंदबाजी की लेकिन बाउंड्री के लिए गया। लेकिन इसके बाद मैंने अपना छोर बदला ताकि बाएं हाथ के बल्लेबाजों के लिए लंबी बाउंड्री थी और उसका मुझे फायदा भी मिला। कहां, किस बल्लेबाज को किस फिल्ड प्लेसमेंट पर कौन सी गेंद करनी है, यह सब आपके दिमाग में चलता रहता है। लोगों को मेरे स्लोअर गेंद की आदत पड़ गई है, इसलिए मैं उन्हें सरप्राइज करने के लिए तेज बाउंसर या यॉर्कर गेंद भी फेंकता हूं इसके अलावा हार्ड लेंथ की गेंद भी मेरे तरकश में है।''

बल्लेबाजों ने निराश किया : धोनी

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु से मिली हार के बाद कहा कि हमने उन्हें अच्छे स्कोर पर रोका था लेकिन हमारे बल्लेबाजों ने निराश किया। धोनी ने कहा, ''जब आप 20 ओवर गेंदबाजी और फील्डिंग कर के आए हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि पिच कैसा खेल रही है। लक्ष्य का पीछा करना माइंड गेम और कैल्कुलेशन का भी खेल है, वह हमारे बल्लेबाज नहीं कर पाए। पिच काफी अच्छी थी और बल्लेबाजी के लिए अच्छी होती चली गई। हम अपनी खामियों पर ध्यान दे रहे हैं ना कि अंक तालिका में हम किस स्थान पर हैं।''

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.