Raj Express
www.rajexpress.co
ईसीबी ने आईसीसी टूर्नामेंटों को लेकर उठाए सवाल, जानिए क्या है विवाद
ईसीबी ने आईसीसी टूर्नामेंटों को लेकर उठाए सवाल, जानिए क्या है विवाद|Ankit Dubey -RE
खेल

ईसीबी ने आईसीसी टूर्नामेंटों को लेकर उठाए सवाल,जानिए क्या है विवाद

ईसीबी की ओर से आईसीसी को सूचना दी गई है कि, वह 2023 से 31 तक हर साल आईसीसी टूर्नामेंट करवाने के इच्छुक नहीं है।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। दुबई में संपन्न हुई आईसीसी (ICC) की पूर्व बैठक में यह बात सामने आई थी कि, 2023 से 2031 के 8 साल के अंतराल में 50 ओवर के 2 वर्ल्ड कप 4 T20 वर्ल्ड कप और दो बड़े टूर्नामेंट का आयोजन किया जाएगा।

ईसीबी (England Cricket Board )की ओर से आईसीसी को सूचना दी गई है कि वह 2023 से 2031 तक हर साल आईसीसी टूर्नामेंट करवाने के इच्छुक नहीं है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड भी इस तरह के प्रस्ताव का विरोध कर चुका है। ऑस्ट्रेलिया की ओर से भी इस प्रस्ताव का समर्थन नहीं किया गया था। क्रिकेट जगत में इंग्लैंड, भारत और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड का बोलबाला है, अगर इन तीनों बड़े क्रिकेट बोर्डों ने आईसीसी के इन मुकाबलों को लेकर सहमति नहीं जताई है, तो यह आईसीसी के लिए बड़ी तकलीफ की बात है।

ईसीबी (ECB) के अध्यक्ष कोलिन ग्रेव्स ने आईसीसी के मुख्य कार्यकारी मनु साहनी को ईमेल के जरिए जानकारी दी है कि ईसीबी 2023 से 2031 तक होने वाले 8 साल के आईसीसी टूर्नामेंट को कराने कि इच्छुक नहीं है।

दुबई में संपन्न हुई आईसीसी की पूर्व बैठक में यह बात सामने आई थी कि 2023 से 2031 के 8 साल के अंतराल में 50 ओवर के 2 वर्ल्ड कप 4 T20 वर्ल्ड कप और दो बड़े टूर्नामेंट का आयोजन किया जाएगा

ग्रेव्स ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि हमारा मानना है कि घरेलू सीरीज से के करार पर इसका असर होगा, इसके अलावा खिलाड़ियों के ऊपर भी इसका पूरा असर होगा। खिलाड़ियों के स्वास्थ्य को देखते हुए हम ऐसे फैसलों को नकारते हैं, साथ ही आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल पर भी इसका असर पड़ेगा।

ईसीबी के अध्यक्ष ने यह भी साफ किया कि ईसीबी की के लिए सबसे महत्वपूर्ण उनके खिलाड़ी हैं और अगर फिलहाल की बात की जाए तो आईसीसी का प्रस्ताव अगर हम मान लेते हैं, तो खिलाड़ियों को कहीं से कहीं तक आराम का समय नहीं मिलेगा। आईसीसी को खिलाड़ियों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को देखते हुए, इस फैसले को लेकर चिंता करनी चाहिए।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।