भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवां टेस्ट कोरोना के कारण रद्द
भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवां टेस्ट कोरोना के कारण रद्दSocial Media

भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवां टेस्ट कोरोना के कारण रद्द

भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवां और अंतिम टेस्ट मैच टीम इंडिया में कोरोना मामलों के चलते रद्द करना पड़ा है।

मैनचेस्टर। भारत और इंग्लैंड के बीच पांचवां और अंतिम टेस्ट मैच टीम इंडिया में कोरोना मामलों के चलते रद्द करना पड़ा है। इंग्लैंड एन्ड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने एक बयान जारी कर कहा, भारतीय शिविर में कोरोना मामलों की संख्या बढ़ने की आशंका के कारण, भारत मैदान में एक टीम उतारने की स्थिति में नहीं है। हम इस खबर के लिए प्रशंसकों और पार्टनर्स से माफी मांगते हैं क्योंकि इससे कईयों को भारी निराशा हुई होगी।'' ईसीबी ने ट्विटर पर जारी बयान में कहा,''बीसीसीआई के साथ बातचीत के बाद ईसीबी इस बात की पुष्टि करता है कि आज से शुरू होने वाला पांचवां टेस्ट रद्द कर दिया गया है।''

भारत के सहायक फिजियो थेरेपिस्ट योगेश परमार के बुधवार को कोरोना से संक्रमित पाए जाने के बाद बीसीसीआई और ईसीबी के बीच गंभीर बातचीत के बाद यह परिणाम सामने आया है। समझा जाता है कि एक भारतीय खिलाड़ी ने दोनों बोर्डों के बीच पिछले दो दिनों से चल रही बातचीत के दौरान मैदान में उतारने को लेकर चिंता जताई। हालांकि पूरी भारतीय टीम का आरटी-पीसीआर टेस्ट का परिणाम गुरूवार को नेगेटिव आया था लेकिन गुरूवार को की गयी टेस्टिंग के दूसरे राउंड के परिणाम की अभी प्रतीक्षा है।

समझा जाता है कि खिलाड़ियों और दोनों बोर्डों को आशंका थी टेस्टिंग के इस राउंड में एक और मामला निकल सकता है और बीसीसीआई ने ईसीबी से कहा कि भारत को पांचवें टेस्ट के लिए अंतिम एकादश उतारने में परेशानी होगी। पिछले दो दिनों में भारतीय शिविर में आशंका फैली हुई थी जबकि दोनों बोर्ड चर्चा में लगे हुए थे कि यह टेस्ट खेला जाए या इसे रद्द कर दिया जाए। चर्चा गुरूवार रात तक चली लेकिन भारतीय दाल को यह जानकारी नहीं थी कि बीसीसीआई क्या फैसला लेने जा रहा है। हालांकि बीसीसीआई ने खिलाड़ियों से कहा था कि वे आईपीएल के लिए यूएई की उड़ान पकड़ने को तैयार रहे जो उनके उड़ान पकड़ने की निर्धारित तारीख 15 सितम्बर से काफी पहले है।

मैच के लिए आधिकारिक समय से कुछ घंटे पहले शुक्रवार सुबह टीम के व्हाट्सअप ग्रुप पर भारतीय टीम को सन्देश मिलता है। पहले सन्देश में कहा गया है कि मैच रद्द कर दिया गया है और यह जरूरी है आप सभी अपने कमरों में रहे। इसके 10 मिनट बाद दूसरा सन्देश आता है कि हम आपके कमरे में ब्रेकफास्ट का इंतजाम करने में असमर्थ हैं। यदि आप चाहते हैं तो आप रेस्तरां में जाकर अपना भोजन ले सकते हैं। ऐसे मिक्स्ड संदेशों का यह कोई पहला मौका नहीं है। जब गुरूवार को पूरी टीम का आरटी-पीसीआर टेस्ट नेगेटिव आ गया था तब समझा जाता है कि बीसीसीआई के साथ ऐसी एक बैठक के लिए कई खिलाड़ी वर्चुअल चर्चा के लिए एक कमरे में जमा हुए थे।

यह ड्रामा परमार के बुधवार को ओल्ड ट्रैफर्ड में ट्रेनिंग के पहले दिन से लौटने के उपरांत कोवि़ड 19 के लक्षण का अनुभव करने के बाद शुरू हुआ। पॉजिटिव लेटरल फ्लो टेस्ट आने के बाद बीसीसीआई की मेडिकल टीम ने पूरी टीम को उनके कमरों में भेज दिया। परमार पिछले एक सप्ताह में कई भारतीय खिलाड़ियों के नजदीकी संपर्क में रहे थे। परमार ने प्रमुख फिजियो नितिन पटेल को चौथे टेस्ट के दौरान आइसोलेशन में भेजे जाने के बाद प्रभार संभाला था।

मुख्य कोच रवि शास्त्री के कोरोना से संक्रमित होने के साथ उन्हें और नितिन पटेल तथा सहयोगी स्टाफ को आइसोलेशन में भेजा गया था। शास्त्री के निकटतम तीन सहयोगियों की पहचान कर ली गयी थी लेकिन यह पता करना ज्यादा मुश्किल था कि परमार के निकट संपर्क में कौन थे। वह खिलाड़ियों के एक बड़े ग्रुप को देख रहे थे जिसमें रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, रवींद्र जडेजा ,मोम्मद सिराज, मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा शामिल थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co