Football : ग्वालियर में खुलेगा देश का पहला रेफरी उत्कृष्टता केंद्र
Football : ग्वालियर में खुलेगा देश का पहला रेफरी उत्कृष्टता केंद्रSocial Media

Football : ग्वालियर में खुलेगा देश का पहला रेफरी उत्कृष्टता केंद्र

AIFF और लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान ने मध्य प्रदेश के ग्वालियर में देश के पहले रेफरी उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना के लिये एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये हैं।

नई दिल्ली। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) और लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान (एलएनआईपीई) ने मध्य प्रदेश के ग्वालियर में देश के पहले रेफरी उत्कृष्टता केंद्र (कोर) की स्थापना के लिये एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये हैं। एआईएफएफ ने इस सिलसिले में एक बयान जारी करके कहा कि यह एमओयू देश में फुटबाॅल के विकास के लिये ‘विजन 2047’ के तहत रणनीतिक रोडमैप का हिस्सा है। रोडमैप के अनुसार देश भर में रेफरियों के विकास के लिए पांच सेंटर फार रेफरी एक्सीलेंस (कोर) स्थापित किए जाएंगे। इस कड़ी में ग्वालियर अपनी तरह का पहला केंद्र है।

एआईएफएफ और एलएनआईपीई कोर के अलावा फुटबॉल के लिये जरूरी व्यायाम फिजियोलॉजी, बायोमैकेनिकल और मनोवैज्ञानिक पहलुओं के अध्ययन के लिए मिल कर शोध करेंगे और अनुसंधान और प्रशिक्षण गतिविधियों के जरिये फुटबॉल के विकास को बढ़ावा देने के लिए विनिमय कार्यक्रम भी शुरू करेंगे। एआईएफएफ के महासचिव शाजी प्रभाकरन ने कहा, “ रेफरियों का विकास ‘विजन 2047’ का एक महत्वपूर्ण पहलू है। यह एमओयू आधुनिक और वैज्ञानिक तरीके से देश भर में फुटबॉल के खेल के प्रसार के लिए फेडरेशन द्वारा किये जा रहे प्रयासों की एक कड़ी है। मौजूदा परिदृश्य में, अनुसंधान और विकास विंग फुटबाल के विकास में सबसे बड़ा योगदान देता है।”

उन्होंने कहा, “एलएनआईपीई के पास इस क्षेत्र में आवश्यक अनुभव और विशेषज्ञता है और इसे ही ध्यान में रख कर यह एमओयू साइन किया गया है। एलएनआईपीए भारतीय फुटबॉल को आगे ले जाने में सक्षम है।” एलएनआईपीई के कार्यवाहक कुलपति प्रोफेसर विवेक पांडे ने कहा, “ हम एआईएफएफ के साथ सहयोग करके बहुत खुश हैं और भारतीय फुटबॉल के विकास के लिए कटिबद्ध हैं। पिछले कई सालों में जब भी फेडरेशन ने यूथ नेशनल कैंप आयोजित करने समेत विभिन्न गतिविधियों में सहयोग मांगा,हमने खुलकर उनका समर्थन किया है। यह समझौता ज्ञापन दोनों संस्थानों के लिए एक जीत है।”

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co