विदेशी ऑलराउंडर ने कहा इस इंडियन प्लेयर को नहीं मिला क्रेडिट
विदेशी ऑलराउंडर ने कहा इस इंडियन प्लेयर को नहीं मिला क्रेडिट।Neelesh Singh Thakur - RE

विदेशी ऑलराउंडर ने कहा इस इंडियन प्लेयर को नहीं मिला क्रेडिट

दक्षिण अफ्रीका के बॉलिंग ऑलराउंडर ने समकालीन श्रेष्ठ गेंदबाजों के मुद्दे पर अपनी राय में भारत के पेस बॉलर के बारे में कहा कि “उनको उतना श्रेय नहीं मिला जितने के वे हकदार रहे।"

हाइलाइट्स

  • साउथ अफ्रीकी बॉलिंग ऑलराउंडर की राय

  • इंडियन पेस बॉलर को हैसियत से कम मिला

  • क्रिकेट मैदान पर अभी भी बज रहा नाम का डंका

  • गेंदबाजी से रिटायर दिग्गज अब मैच रैफरी के रोल में

राज एक्सप्रेस। दक्षिण अफ्रीका के बॉलिंग ऑलराउंडर ने समकालीन श्रेष्ठ गेंदबाजों के मुद्दे पर अपनी राय में भारत के पेस बॉलर के बारे में कहा कि “उनको उतना श्रेय नहीं मिला जितने के वे हकदार रहे।”

पॉडकास्ट :

खेल जगत की खबरों के मशहूर समूह स्काई स्पोर्ट्स (Sky Sports) से चर्चा में दक्षिण अफ्रीका के मशहूर बॉलिंग ऑलराउंडर और भूतपूर्व कप्तान शॉन पोलॉक(Shaun Pollock) ने अपने जमाने के तेज गेंदबाजों के बारे में राय रखी। स्काई स्पोर्ट्स के पॉडकास्ट डिस्कशन में पूर्व वेस्टइंडियन फास्ट बॉलर माइकल होल्डिंग और इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड ने भी मुद्दे पर विचार जाहिर किये।

क्या बोले पोलॉक? :

परिचर्चा में Shaun Pollock ने कहा कि उनको लगता है “जवागल श्रीनाथ को वह श्रेय नहीं मिला जिसके वे हकदार थे।” आपको पता हो जवागल श्रीनाथ ने 90 के दशक में भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण का प्रतिनिधित्व किया। इस दौर में श्रीनाथ और पोलॉक का कई मैचों में आमना-सामना हुआ। पुरानी यादों को ताजा करते हुए पोलॉक का मानना है कि श्रीनाथ को वह श्रेय कभी नहीं मिला जिसके वे हमेशा हकदार रहे।

"मेरे युग में, आपके पास पाकिस्तान के लिए वसीम अकरम और वकार यूनिस और वेस्ट इंडीज के लिए कर्टली एम्ब्रोस और कर्टनी वाल्श जैसे महान संयोजन थे। ऑस्ट्रेलिया में ग्लेन मैक्ग्रा और ब्रेट ली थे। अब आपके पास इस युग में जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड हैं।"

शॉन पोलॉक, पूर्व बॉलिंग ऑलराउंडर, क्रिकेट विश्लेषक, साउथ अफ्रीका

अब तक श्रीनाथ :

भारत में कर्नाटक के मैसूर में 31 अगस्त 1969 को जन्मे श्रीनाथ ने भारत के अलावा ग्लॉस्टरशायर, कर्नाटक, लीसेस्टरशायर के लिए भी क्रिकेट खेला। सीधे हाथ से मध्यम तेज गेंदबाजी और बल्लेबाजी करने वाले श्रीनाथ ने वर्ल्ड लेवल पर अपनी पहचान बनाई। फिलहाल उम्र का अर्धशतक लगाने के बावजूद श्रीनाथ अभी ICC मैच रैफरी की जिम्मेदारी निभा रहे हैं।

श्रीनाथ ने महान ऑलराउंडर और पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव के रिटायर होने के बाद भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण की बागडोर बखूबी संभाली। वे भारत की ओर से वनडे मैचों में 300 से अधिक विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज भी हैं। उन्होंने 67 टेस्ट और 229 एक दिवसीय मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया। साल 1991 से 2003 के दौरान उन्होंने टेस्ट और वनडे मैचों में क्रमशः, 236 और 315 विकेट अपने नाम दर्ज कराए।

मार्शल ने छोड़ी छाप :

दक्षिण अफ्रीकी बॉलिंग ऑलराउंडर और कप्तान शॉन पोलॉक के प्रशंसकों का बड़ा वर्ग दुनिया भर में मौजूद है। पोलॉक ने क्रिकेट के सभी प्रारूप में दक्षिण अफ्रीका टीम की कप्तानी की। पोलॉक के नाम 400 से अधिक टेस्ट विकेट और 3,700 से ज्यादा टेस्ट रन दर्ज हैं। उन्होंने कहा कि एक गेंदबाज जिसने करियर की शुरुआत में उन पर एक अमिट छाप छोड़ी, वह थे वेस्टइंडीज के महान तेज गेंदबाज मैल्कम मार्शल।

उन्होंने कहा, "(मैल्कम) मार्शल अगले स्तर के खिलाड़ी थे। मैं भाग्यशाली रहा कि अपने करियर के शुरुआती दौर में ही मुझे उनसे मिलने का मौका मिला। इस मुलाकात में मुझे पूरी तरह से अलग तरीके से तेज गेंदबाजी करने की सीख मिली।"

पोलॉक वर्ष 2008 में रिटायर होने के बाद अब क्रिकेट कॉमेंटेटर और विश्लेषक के तौर पर चैनलों को सेवा दे रहे हैं। पोलॉक हम वतन क्रिकेटर डेल स्टेन से सबसे अधिक प्रभावित दिखे जिन्होंने दिसंबर, 2018 में टेस्ट में उन्हें दक्षिण अफ्रीका के प्रमुख विकेट लेने वाले खिलाड़ी के रूप में पछाड़ दिया था। उन्होंने कहा कि स्टेन के पास गेंद को उच्च गति पर आकार देने और फिर बाद में रिवर्स स्विंग करने की क्षमता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co