गांगुली ने रमन को महिला टीम कोच के रूप में रिटेन नहीं करने पर जताई नाराजगी
गांगुली ने रमन को महिला टीम कोच के रूप में रिटेन नहीं करने पर जताई नाराजगीSocial Media

गांगुली ने रमन को महिला टीम कोच के रूप में रिटेन नहीं करने पर जताई नाराजगी

बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भारतीय महिला टीम के कोच के रूप में रमन को रिटेन न किए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए आंतरिक रूप से इस मुद्दे को उठाया है।

राज एक्सप्रेस। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के पदाधिकारियों के बीच डब्ल्यूवी रमन को भारतीय महिला क्रिकेट टीम के कोच के पद से हटाए जाने को लेकर चल रहा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब यह जानकारी सामने आई है कि बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भारतीय महिला टीम के कोच के रूप में रमन को रिटेन न किए जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए आंतरिक रूप से इस मुद्दे को उठाया है।

समझा जाता है कि गांगुली ने पत्रों के माध्यम से औपचारिक रूप से भारत के पूर्व बल्लेबाज रमन को कोच पद से हटाए जाने पर आपत्ति जताई है। दरअसल क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने कोच पद के लिए उनके बारे में विचार तक नहीं किया था और उनकी जगह रमेश पोवार को कोच चुन लिया गया था। बीसीसीआई अध्यक्ष ने हालांकि पोवार के चयन पर कुछ नहीं कहा है, लेकिन उन्होंने इस बात पर हैरानी जरूरत जताई है कि कैसे एक कोच, जिसने टीम को एक अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचाया था, को पद पर बरकरार नहीं रखा गया है।

यह बात भी सामने आई थी कि टीम के कुछ वरिष्ठ सदस्यों ने कथित तौर पर रमन के बारे में शिकायत की है, लेकिन बीसीसीआई अध्यक्ष, जो खुद एक समय क्रिकेट सलाहकार समिति के सदस्य थे, को लगता है कि भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज के साथ बने रहना चाहिए था। उल्लेखनीय है कि रमन के कोच रहते हुए ही भारतीय महिला टीम ने 2020 में ऑस्ट्रेलिया में हुए टी-20 विश्व कप के फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था, लेकिन टीम मार्च में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज बुरी तरह हार गई थी।

उधर महिला क्रिकेट से जुड़े कुछ लोगों का कहना है कि गांगुली को मदन लाल, आरपी सिंह और सुलक्षणा नाइक वाली क्रिकेट सलाहकार समिति के फैसले और इसकी कार्यात्मक स्वायत्तता का सम्मान करना चाहिए। महिला क्रिकेट से परिचित बीसीसीआई के एक अंदरूनी सूत्र ने कहा कि गांगुली को यह खुद पता होना चाहिए कि क्रिकेट सलाहकार समिति एक स्वतंत्र निकाय है।

इस बीच हाल ही में बीसीसीआई की ओर से महिला खिलाड़ियों के अनुबंध पर विवाद खड़ा हो गया है। समझा जाता है कि महिला क्रिकेटरों को आवंटित केंद्रीय अनुबंधों को लेकर बीसीसीआई के अंदर कुछ असंतोष है। बीसीसीआई ने ए ग्रेड में तीन खिलाड़ियों टी-20 कप्तान हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना और पूनम यादव को रखा है, जबकि ग्रेड बी में वनडे कप्तान मिताली राज और शेफाली वर्मा सहित 10 खिलाड़ियों को जगह दी गयी है। इससे बीसीसीआई में कुछ असंतोष है, लेकिन गांगुली ने कहा कि वह इस चयन के साथ सहज हैं। गांगुली ने इस बारे में कहा, '' चयनकर्ता अनुबंध तय करते हैं और उन्होंने जो किया उससे मैं बिल्कुल सहमत हूं।" उन्होंने हालांकि क्रिकेट सलाहकार समिति द्वारा किए गए महिला कोच के चयन पर कोई अधिकारिक बयान नहीं दिया है।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co