मैच में छोटे-छोटे सुधारों को देखकर बहुत अच्छा लगा : विलियमसन
मैच में छोटे-छोटे सुधारों को देखकर बहुत अच्छा लगा : विलियमसनSocial Media

मैच में छोटे-छोटे सुधारों को देखकर बहुत अच्छा लगा : विलियमसन

केन विलियमसन ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ जीत के बाद कहा कि टीम के लिए यह एक मुश्किल सीजन रहा है और इस मैच में छोटे-छोटे सुधारों को देखकर बहुत अच्छा लगा।

अबू धाबी। सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने यहां आईपीएल मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ जीत के बाद कहा कि टीम के लिए यह एक मुश्किल सीजन रहा है और इस मैच में छोटे-छोटे सुधारों को देखकर बहुत अच्छा लगा। छोटे-छोटे समायोजनों को देखना अच्छा था। हमने सोचा कि कुल स्कोर प्रतिस्पर्धी है और हमने सभी गेंदबाजों को डटकर लड़ाई करते देखा।

मैच में 31 रन की पारी खेल कर 'प्लेयर ऑफ द मैच' रहे विलियमसन ने कहा, ''मैं बल्लेबाजी करते समय केवल पावरप्ले में अधिक से अधिक रन बनाने की कोशिश कर रहा था और गेंद अच्छी तरह से आ रही थी और हम भाग्यशाली थे कि हमने एक साझेदारी बनाई। हम जानते थे कि गेंदबाजी के नजरिए से चीजें जल्दी गेंदबाजी पक्ष में नहीं होंगी, लेकिन हम जानते थे कि अगर हम अपना ध्यान बनाए रखते हैं और लंबे समय तक क्रीज पर बने रहते हैं तो हम उन पर दबाव बना सकते हैं। मैच काफी रोमांचक हो रहा था और मैक्सवेल को किसी न किसी तरह से आउट करना महत्वपूर्ण था, बेंगलुरु एक शानदार टीम है। भले ही हम टूर्नामेंट से बाहर हैं, लेकिन खिलाड़ियों द्वारा अंत तक लड़ी गई लड़ाई को देखना बहुत अच्छा था।"

कप्तान ने नए युवा गेंदबाज उमरान मलिक के बारे में कहा, '' यकीनन वह खास हैं। हमने उन्हें पिछले कुछ सीजनों में नेट्स में देखा था। वह एक वास्तविक प्रतियोगी हैं और धीमी सतहों पर भी प्रभावी साबित हो रहे हैं। उनके पास टीम में कई साथी हैं, जिनसे उन्हें ज्ञान प्राप्त करने में मदद मिलती है। जीत में योगदान करना युवाओं के लिए एक शानदार अवसर है। उम्मीद है कि हम सीखते रहेंगे और शुक्रवार को अपने आखिरी मैच इसी तरह से खेलेंगे। हमारे कई मैच आखिरी ओवर में खत्म हुए हैं। हम कोशिश करते हैं कि योजनाओं पर अच्छे से अमल किया जाए। कोई भी पिच आपको लय में आने की अनुमति नहीं देती है।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.