मैं भाग्यशाली हूं कि मैं मुंबई में ऐसा कर सका : एजाज
मैं भाग्यशाली हूं कि मैं मुंबई में ऐसा कर सका : एजाजSocial Media

मैं भाग्यशाली हूं कि मैं मुंबई में ऐसा कर सका : एजाज

एजाज ने इतिहास रचने के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा, मुंबई लौट कर आना और वानखेड़े में ऐसा करना बहुत खास है। मैं खुदा का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने मुझे ऐसा करने का मौक़ा दिया।

मुम्बई। एक पारी में 10 विकेट लेकर इतिहास बनाने वाले एजाज पटेल को अपने मोबाइल में आए बधाई संदेशों को पढ़ने और उसका जवाब देने की कोई जल्दी नहीं है। वह इन संदेशों को अब क्वारंटीन में पढ़ेंगे और फिर जवाब देंगे। न्यूजीलैंड के खिलाड़ियों को भारत से वापसी के बाद घर जाने से पहले अनिवार्य क्वारंटीन में रहना है।

एजाज ने इतिहास रचने के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा, मुंबई लौट कर आना और वानखेड़े में ऐसा करना बहुत खास है। मैं खुदा का शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने मुझे ऐसा करने का मौक़ा दिया। निश्चित रूप से यह मेरे क्रिकेट करियर का सबसे बड़ा दिन है।

एजाज ने पहले दिन की समाप्ति पर चार विकेट लिए थे और उनकी नजर वानखेड़े के सम्मान बोर्ड पर अपना नाम लिखाने पर थी। उन्होंने कहा, मैं निश्चित रूप से यहां के ऑनर्स बोर्ड पर अपना नाम देखना चाहता था। लेकिन मुझे इसकी उम्मीद नहीं थी। यह सच में बहुत विशेष है। अब मेरा नाम निश्चित रूप से यहां के ऑनर्स बोर्ड पर होगा।

एजाज की इस उपलब्धि पर अनिल कुंबले ने भी ट्वीट कर बधाई दी, जो पहले ऐसा कर चुके हैं। इस बारे में उन्होंने कहा, मुझे कोटला में उनका प्रदर्शन याद है। मैंने उस पारी की हाइलाइट को कई बार देखा है। उनके साथ एक विशेष सूची में शामिल होना निश्चित रूप से बहुत सुखद है। उनका मैसेज देखकर मुझे बहुत खुशी हुई। मैं बहुत भाग्यशाली हूं कि मैं उनके समूह में शामिल हुआ हूं।

इस 10 विकेट की यात्रा के दौरान मयंक अग्रवाल, एजाज पटेल के रास्ते में सबसे बड़ा कांटा साबित हुए। एजाज ने बताया कि 10वां विकेट लेने के दौरान अंतिम कुछ क्षण उनके लिए बहुत अधीरता से भरे रहे। खासकर अंतिम विकेट और कैच के दौरान वह थोड़ा सा नर्वस दिखे। उन्होंने बताया, रचिन (रविंद्र) गेंद के नीचे थे, लेकिन फिर भी मैं कुछ सेकंड के लिए नर्वस हुआ क्योंकि गेंद हवा में भी घूम रही थी। लेकिन रचिन ने उसे बेहतरीन तरीक़े से लपका। मैंने इस बारे में नील वैगनर से भी बताया कि वह नर्वस हैं, जो कि दसवें विकेट से बस थोड़ा सा पहले उनके पास आए थे। यह अविश्वसनीय था। मैं भाग्यशाली हूं कि मैं मुंबई में ऐसा कर सका।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co