चैपल ने याद दिलाई सचिन की वह पारी, जिसकी मदद से जीते कोरोना से जंग
चैपल ने याद दिलाई सचिन की वह पारी, जिसकी मदद से जीते कोरोना से जंगSocial Media

चैपल ने याद दिलाई सचिन की वह पारी, जिसकी मदद से जीते कोरोना से जंग

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज खिलाड़ी इयान चैपल ने कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए एक दिलचस्प उदाहरण दिया है।

राज एक्सप्रेस। ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज खिलाड़ी इयान चैपल (Ian Chappell) ने कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए एक दिलचस्प उदाहरण दिया है। उनका मानना है कि इसको एक क्रिकेट टेस्ट मैच के तौर पर देखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस बुरे दौर से निकलने के लिए धैर्य और दृढ़ संकल्प जरूरी है, साथ ही थोड़ी पहल की आवश्यकता है जो कि एक टेस्ट क्रिकेटर की प्रमुख विशेषता होती है। सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) की एक पारी की याद दिलाते हुए ऑस्ट्रेलियाई कप्तान चैपल ने उदाहरण पेश किया है, जिसकी मदद से देशवासी कोरोना वायरस से उभरने में मदद ले सकते हैं।

चैपल ने अपने कॉलम की मदद से दिया उदाहरण

इयान चैपल (Ian Chappell) ने अपने कॉलम के द्वारा जानकारी दी और कहा दुनियाभर के कई नागरिकों के लिए यह परीक्षा की घड़ी है। मैंने सीखा है कि खेलो में बड़ी उपलब्धि हासिल करने वाले खिलाड़ी पर भी यही नियम लागू होता है। जब कोरोना वायरस महामारी परेशान करने वाली बन चुकी है, तब सभी देश के लोगों को धैर्य और दृढ़ संकल्प बनाए रखना चाहिए। टेस्ट क्रिकेट खेलने में भी यही विशेषता काम आती है।

सचिन तेंदुलकर की पारी को याद किया

इयान चैपल (Ian Chappell) द्वारा सचिन तेंदुलकर की 1998 की पारी को याद करते हुए उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सचिन तेंदुलकर द्वारा चेन्नई टेस्ट में बेहतरीन पारी खेली गई थी, जहां उन्होंने आक्रमक खेल दिखाकर शेन वॉर्न की जमकर पिटाई की थी। सचिन तेंदुलकर द्वारा चेन्नई में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच में 155 रनों की पारी खेली गई थी। जिसमें भारत ने जीत हासिल की थी। चैपल ने सचिन तेंडुलकर की तारीफ करते हुए कहा कि जो तैयारी उन्होंने की थी वैसी तैयारी के बगैर इस तरह खेलना संभव नहीं था।

आक्रमक रवैया अपनाया

इयान चैपल (Ian Chappell) द्वारा कहा गया कि, उस समय सचिन तेंदुलकर ने भारतीय हरफनमौला खिलाड़ी रवि शास्त्री से सवाल किया था कि अगर शेन वॉर्न उन्हें पिच के खुरदुरा क्षेत्र पर गेंदबाजी करें तो वह किस तरह इसका सामना करें, तब रवि शास्त्री ने सचिन तेंदुलकर को आक्रमक रवैया अपनाने को कहा था।

जिसके बाद सचिन तेंदुलकर ने टीम के लेग स्पिनर लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन के साथ जमकर अभ्यास किया था। जिसका नतीजा यह हुआ कि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बड़ी पारी खेलकर भारत को जीत दिलवाई।

सचिन की उस पारी की तरह लड़े कोरोना से जंग

इयान चैपल (Ian Chappell) द्वारा सचिन की इस पारी को सर्वश्रेष्ठ पारी करार दिया गया। सचिन की पहल और दृढ़ संकल्प से ही यह सब संभव हुआ, इसी तरह कोरोना वायरस महामारी से भी हम दृढ़ संकल्प और धैर्य के साथ सामना कर जीत हासिल कर सकते हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co