आईसीसी ने डब्ल्यूटीसी फाइनल के लिए फॉलोऑन नियम को लेकर दिया स्पष्टीकरण
आईसीसी ने डब्ल्यूटीसी फाइनल के लिए फॉलोऑन नियम को लेकर दिया स्पष्टीकरणSocial Media

आईसीसी ने डब्ल्यूटीसी फाइनल के लिए फॉलोऑन नियम को लेकर दिया स्पष्टीकरण

आईसीसी ने स्पष्ट किया है कि अगर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल के पहले दिन बारिश के कारण खेल प्रभावित होता है तो फॉलो-ऑन नियम नहीं बदलेगा, जो आमतौर पर अन्य टेस्ट मैचों में होता।

राज एक्सप्रेस। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने स्पष्ट किया है कि अगर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल के पहले दिन बारिश के कारण खेल प्रभावित होता है तो फॉलो-ऑन नियम नहीं बदलेगा, जो आमतौर पर अन्य टेस्ट मैचों में होता। आईसीसी ने इंग्लैंड के साउथम्पटन में 18 से 23 जून तक भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले जाने वाले डब्ल्यूटीसी फाइनल में जोड़े गए अतिरिक्त दिन के मद्देनजर यह स्पष्टीकरण दिया है।

सामान्य मामलों में फॉलोऑन आईसीसी नियमों के अनुच्छेद 14.1.1 तहत दिया जाता है। इसमें पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम 200 रनों की बढ़त मिलने के बाद विपक्षी टीम को फिर से बल्लेबाजी के लिए बुला सकती है। मैच के दिनों की संख्या कम होने पर रनों की संख्या भी कम हो जाती है। तीन या चार दिनों के मैच में 150 रन, दो दिन के मैच में 100 रन और एक दिन के मैच में 75 रन की लीड फॉलोऑन के मान्य होती है।

वहीं अगर मैच के पहले और दूसरे दिन का खेल नहीं होता है, तो अनुच्छेद 14.1 खेल की शुरुआत से शेष दिनों (निर्धारित रिजर्व डे सहित) के अनुसार लागू होगा। जिस दिन पहली बार खेल शुरू होता है उसे पूरे दिन के रूप में गिना जाता है, भले ही खेल शुरू होने का समय कुछ भी हो। पहला ओवर शुरू होने के बाद ही प्ले डे काउंट हो जाएगा।

आईसीसी ने इस बारे में कहा है कि अगर पहले और दूसरे दिन का खेल नहीं होता है तो पहली पारी में 200 रनों की बढ़त केवल 150 रन तक कर दी जाएगी। आम तौर पर ऐसा तब होता है जब केवल पहले दिन का खेल नहीं हो पाता है, लेकिन रिजर्व डे होने पर पहले दिन का खेल खराब होने के बावजूद 200 रन की ही लीड मान्य होगी।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co