WTC Final में भारतीय टीम ने Milkha Singh की याद में हाथ पर बांधी काली पट्टी
WTC Final में भारतीय टीम ने Milkha Singh की याद में हाथ पर बांधी काली पट्टीSocial Media

WTC Final में भारतीय टीम ने Milkha Singh की याद में हाथ पर बांधी काली पट्टी

भारतीय क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल के दूसरे दिन शनिवार को महान भारतीय धावक मिल्खा सिंह के सम्मान और उनकी याद में बाजू पर काली पट्टी बांधी।

राज एक्सप्रेस। भारतीय क्रिकेट टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल के दूसरे दिन शनिवार को महान भारतीय धावक मिल्खा सिंह के सम्मान और उनकी याद में बाजू पर काली पट्टी बांधी, जिनका शुक्रवार देर रात कोरोना जटिलताओं के कारण निधन हो गया था।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मीडिया सेल ने शनिवार को एक संदेश पोस्ट साझा किया, जिसमें लिखा, '' भारतीय क्रिकेट टीम ने मिल्खा सिंह जी की याद में काली पट्टी बांधी हुई है, जिनका कोरोना से निधन हो गया है।" इससे पहले पूरी भारतीय खेल बिरादरी ने फ्लाइंग सिख को विनम्र श्रद्धांजलि दी, जिन्होंने भारतीय एथलेटिक्स को दुनिया के नक्शे में रखा।

भारत के महान क्रिकेट लीजेंड सचिन तेंदुलकर ने कहा कि मिल्खा सिंह की किंवदंती जीवित रहेगी। उन्होंने एक ट्वीटर में कहा, '' आपकी आत्मा को शांति मिले हमारे अपने ' फ्लाइंग सिख ' मिल्खा सिंह जी। आपके निधन से आज हर भारतीय के दिल में कभी न भरने वाला खालीपन आ गया है, लेकिन आप आने वाली कई पीढ़ियों को प्रेरणा देते रहेंगे।"

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान कोहली ने भी महान ओलंपियन को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने ट्वीट में कहा, ''एक विरासत जिसने पूरे देश को उत्कृष्टता के लक्ष्य के लिए प्रेरित किया। उनकी विरासत हमें सिखाती है कि कभी हार न मानें और अपने सपनों का पीछा करें। रेस्ट इन पीस मिल्खा सिंह जी। आपको कभी नहीं भुलाया जा सकेगा।"

भारतीय टीम के मुख्य कोच शास्त्री ने कहा, '' भारत के महान ओलंपिक धावक ने सबसे सीमित सुविधाओं के बावजूद अपनी प्रतिस्पर्धी भावना से 60 के दशक में दुनिया को हिला दिया था। उन्होंने एक अलग ही स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने की इच्छाशक्ति दिखाने का संकल्प लिया था। भगवान आपकी आत्मा को शांति दे। उनके परिवार के प्रति संवेदना।"

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.