Ind vs Aus: चौथा टेस्ट खेलने BCCI को CA से किस बात पर ऐतराज, जानें वजह?
ब्रिसबेन के गावा क्रिकेट स्टेडियम में चौथे टेस्ट मैच के बारे में असमंजस की स्थिति बनी हुई है।Neelesh Singh Thakur – RE

Ind vs Aus: चौथा टेस्ट खेलने BCCI को CA से किस बात पर ऐतराज, जानें वजह?

तय कार्यक्रम के अनुसार भारतीय टीम 4 जनवरी को सिडनी रवाना होगी। वहां दो दिनों के अभ्यास के बाद गुरुवार को SCG में तीसरा टेस्ट खेला जाएगा।

हाइलाइट्स –

  • स्वतंत्रता में खलल!

  • बायो बबल पर टसल!

  • गाबा नहीं SCG प्रबल!

राज एक्सप्रेस। भारतीय क्रिकेट टीम के पांच खिलाड़ियों की बबल ब्रेक करने की खबरों के बाद अब चौथे टेस्ट मैच को लेकर नया संकट सामने आया है। खेल जगत की खबरों के मुताबिक भारतीय टीम चौथे टेस्ट के लिए ब्रिसबेन की यात्रा करने के लिए उत्सुक नहीं है।

एक की जगह दो -

भारतीय टीम सिडनी में एक ही स्थान पर आखिरी दो टेस्ट मैच खेलना पसंद करेगी। भारतीय क्रिकेट दल पर आगे और प्रतिबंध बढ़ाने की दशा में भारत ने चौथे टेस्ट के लिए ब्रिसबेन की यात्रा करने की अनिच्छा जताई है।

दरअसल भारतीय क्रिकेट टीम की क्वींसलैंड की यात्रा पर संदेह उन रिपोर्टों से उपजा है, जिसमें इंडियन क्रिकेट टीम (Indian Cricket team) को कठोर लॉकडाउन में रखने की आशंका जताई गई है।

मेहमान भारत को ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद से ही यह स्पष्ट है कि एक बार दौरे की शुरुआत में वे 14 दिनों के संगरोध (quarantine) को पूरा कर लेते हैं तो; वे ऑस्ट्रेलिया में स्वतंत्रता के मामले में अलग माने जाएंगे।

डर इस बात का -

भारतीय क्रिकेट टीम को चिंता इस बात की है कि कोरोना वायरस महामारी उन्नीस (covid-19) से बचाव के लिए प्रतिबंध बढ़ने से टीम मैंबर्स की स्वतंत्रता में खलल पड़ेगा। इन प्रतिबंधों के कारण खिलाड़ी ब्रिसबेन पहुंचने पर होटल के कमरों तक ही सीमित हो जाएंगे। सिडनी के विकल्प के जरिये भारतीय क्रिकेट दल इन अतिरिक्त बचाव प्रतिबंधों से दूर रहने की जुगत तलाश रहा है।

क्वारंटीन मियाद का मामला -

क्रिकबज पर जारी लेख के मुताबिक भारतीय क्रिकेट टीम के साथ जुड़े एक सूत्र ने कहा कि; “अगर आप देखें, तो हम सिडनी में उतरने से पहले दुबई में 14 दिनों के लिए क्वारंटीन थे। फिर ऑस्ट्रेलिया में हम एक महीने के सख्त जैविक सुरक्षा घेरे में रहे। ऐसे में अतिरिक्त 14 दिनों का अलगाव ज्यादा होगा। हम दौरे के समापन पर अब एक बार फिर क्वारंटीन नहीं होना चाहते।"

अधिकारी के हवाले से रिपोर्ट में उल्लेख है कि; टीम ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए-CA) और अन्य राज्य सरकारों के प्रोटोकॉल में पूरा सहयोग किया है। अब टीम अतिरिक्त प्रतिबंध नहीं चाहती और आखिरी दो टेस्ट मैच एक ही स्थान पर खेलना पसंद करेगी।

अधिकारी के मुताबिक "हम ब्रिसबेन जाने के लिए उत्सुक नहीं हैं, क्योंकि इसका मतलब फिर से होटल में फंस जाना है और हम सिर्फ मैदान तक ही सीमित रहेंगे। ब्रिसबेन के बजाए हम दूसरे किसी कम प्रतिबंधों वाले शहर में रहकर सीरीज के बाकी बचे दोनों टेस्ट मैच खेलना पसंद करेंगे।"

निर्धारित कार्यक्रम -

तय कार्यक्रम के अनुसार भारतीय टीम सोमवार 4 जनवरी को सिडनी की यात्रा पर रवाना होगी। वहां दो दिनों के अभ्यास के बाद गुरुवार 7 जनवरी को एससीजी (SCG) यानी सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में तीसरा टेस्ट मैच खेला जाएगा।

नए मामले, नया प्रतिबंध -

हाल ही में शनिवार 2 जनवरी को न्यू साउथ वेल्स (एनएसडब्ल्यू-NSW) में सात नए सामुदायिक संक्रमण के मामले सामने आने के कारण अधिकांश सार्वजनिक स्थानों पर मास्क को फिर अनिवार्य कर दिया गया। पिछले कुछ दिनों में दक्षिण ऑस्ट्रेलिया और विक्टोरिया ने एनएसडब्ल्यू से लगने वाली सीमाओं को कठोर प्रतिबंधों के साथ बंद करने की भी घोषणा की है।

क्वींसलैंड की सीमा -

इस बात की संभावना न के बराबर है कि क्वींसलैंड अपनी एनएसडब्ल्यू से लगने वाली सीमाओं में लागू उन प्रतिबंधों पर विचार करेगा जिसमें दो टीमों को ब्रिसबेन में प्रस्थान के लिए खास रियायत का उल्लेख हो। गौरतलब है कि सीए ने पिछले सप्ताह इस बारे में खास रियायतों का जिक्र किया था।

हमें तो ये उम्मीद थी -

भारतीय टीम से जुड़े सूत्र के मुताबिक हम वर्तमान घटनाक्रम की जटिलता को समझते हैं। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और हमने बबल के भीतर प्रोटोकॉल का पालन करने के संबंध में हर कदम पर सहयोग किया है।

लेकिन हम उम्मीद कर रहे थे कि सिडनी में अनिवार्य प्रारंभिक संगरोध को पूरा करने के बाद तमाम प्रतिबंधों के संदर्भ में 'सामान्य आस्ट्रेलियाई' की तरह व्यवहार करेंगे।

धुआं उठने का कारण ये तो नहीं! -

चौथे टेस्ट के आयोजन स्थल का मामला उन पांच भारतीय खिलाड़ियों के बारे में रिपोर्टों के बाद जोर पकड़ा है जिसमें इंडियन क्रिकेटर्स पर कथित तौर पर इनडोर रेस्त्रां में खाना खाने और बाहरी व्यक्ति से गले मिलकर जैव सुरक्षा कवच को तोड़ने का जिक्र है।

सीए की एक प्रेस विज्ञप्ति से संकेत मिले हैं कि इस घटना की आगे जांच की जाएगी कि; क्या कोई उल्लंघन हुआ था या नहीं?

स्वतंत्रता का सवाल -

दरअसल 26 नवंबर को जब इंडियन क्रिकेट टीम मैंबर्स अपने होटल से क्वारंटीन की मियाद पूरी कर बाहर आए थे तो उनको इस बारे में एक खास स्वतंत्रता प्रदान की गई थी। साथ ही शनिवार से पहले तक प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने की कोई रिपोर्ट गले की फांस नहीं बनी थी।

भारतीय खेमे में सिडनी के बारे में भी चिंताएं हैं कि क्या उन्हें उस स्तर की आजादी वहां मिल पाएगी जैसी कि टीम को इस दौरे के पहले चरण के दौरान मिली।

बखेड़े की वजह –

ऑस्ट्रेलियाई मीडिया की खबरों में भारतीय क्रिकेट टीम के पांच मैंबर्स पर ऑस्ट्रेलिया में कोरोना प्रोटोकॉल के उल्लंघन का आरोप लगा है। रिपोर्ट्स में वीडियो और एक खेल प्रशंसक के हवाले से उल्लेख है कि सिडनी में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच से पहले मेलबर्न में अभ्यास कर रहे खिलाड़ियों ने नियमों की अवहेलना की।

टीम के उप-कप्तान रोहित शर्मा, शुभमन गिल, पृथ्वी शॉ, ऋषभ पंत, नवदीप सैनी इन रिपोर्ट्स के बाद टीम से अलग रहकर प्रेक्टिस कर रहे हैं।

क्या है नियम? -

कोरोना वायरस महामारी (कोविड-19) काल के बीच आयोजित होने वाली क्रिकेट गतिविधियों को बायो-बबल में कराने के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी-ICC) यानी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने नियम जारी किये हैं। निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुसार खिलाड़ियों को इनडोर रेस्त्रां के बजाए सुरक्षित वातावरण में पृथक से बैठकर भोजन करना होगा।

क्या है पूरा मामला? -

दरअसल मेलबर्न के जिस रेस्त्रां में शर्मा, गिल, शॉ, पंत, सैनी ने लंच किया उसका वीडियो सोशल मीडिया पर आने के बाद से सुरक्षा घेरा टूटने पर बबाल खड़ा हुआ। वीडियो जारी करने वाले के दावे भी टीम मैंबर्स के लिए गले की हड्डी बन गए। दरअसल क्रिकेट प्रशंसक ने अपने इन पसंदीदा स्टार्स के लंच का बिल चुकाने और ऋषभ पंत से गले मिलने का दावा किया था।

वीडियो में क्या दिखा और कितने का बिल बना? साथ ही क्या, लिखा, पढ़ा गया इस बारे में RE (rajexpress) पर विस्तार से जानने शीर्षक पर क्लिक करें। Ind vs Aus: बाकी मैचों में BCCI का प्लान पंत की हीरोपंती से न हो जाए चौपट!

भले ही वीडियो शेयर करने वाले नवलदीप ने सफाई दे दी हो लेकिन टीम के पांच खिलाड़ियों को अब टीम से अलग होकर अभ्यास करना पड़ रहा है। चौथे टेस्ट स्थल के बारे में चल रही अटकलों को लेकर भारतीय क्रिकेट टीम पर सोशल मीडिया में आरोप लग रहे हैं कि धनवान बोर्ड होने का भारतीय क्रिकेट बोर्ड गलत फायदा उठा रहा है।

डिस्क्लेमर आर्टिकल प्रचलित रिपोर्ट्स पर आधारित है। इसमें शीर्षक-उप शीर्षक और संबंधित अतिरिक्त प्रचलित जानकारी जोड़ी गई हैं। इस आर्टिकल में प्रकाशित तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co