IND Vs SL T20: मैदान पर दर्शकों के लिए बुरी खबर, लगेगी यह पाबंदी
IND Vs SL T20: मैदान पर दर्शकों के लिए बुरी खबर, लगेगी यह पाबंदी|Social Media
खेल

IND Vs SL T20: मैदान पर दर्शकों के लिए बुरी खबर, लगेगी यह पाबंदी

भारत और श्रीलंका के बीच 3 T20 मैचों की श्रृंखला कल रविवार से गुवाहाटी में शुरू हो रही है, लेकिन दर्शकों के लिए एक बुरी खबर है।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। भारत और श्रीलंका के बीच 3 टी-20 मैचों की श्रृंखला कल रविवार से गुवाहाटी में शुरू हो रही है, लेकिन दर्शकों के लिए एक बुरी खबर है, क्योंकि गुवाहाटी T20 में कुछ ऐसा देखने को मिलेगा जो इससे पहले T20 मुकाबले में देखने को नहीं मिला।

दरअसल इस रोमांचक T20 खेल में दर्शकों को पोस्टर बैनर या प्ले-कार्डस ले जाने की अनुमति नहीं होगी। यह सब एहतियातन सतर्कता बरतने के मद्देनजर किया जा रहा है।

असम क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव ने दी जानकारी

असम क्रिकेट एसोसिएशन (ACA) के सचिव देवजीत सैकिया ने जानकारी देते हुए बताया कि, दर्शकों पर इस पाबंदी का नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) से कोई ताल्लुक नहीं है। सीएए (CAA) के विरोध के दौरान राज्य के अधिकांश भाग में परेशानी का सामना करना पड़ा था। कर्फ्यू के साथ इंटरनेट बंद रहा और कुछ लोगों की मौत भी हुई। लेकिन T20 मैच के दौरान दर्शकों पर जो पोस्टर बैनर या प्ले कार्ड ले जाने पर पाबंदी लगी है, इसका सीएए से कोई ताल्लुक नहीं है।

उन्होंने हिंदुस्तान टाइम्स के हवाले से जानकारी देते हुए आगे बताया कि केवल असम नहीं बल्कि हर कोई चिंतित है, यह अंतरराष्ट्रीय T20 मैच है और इसमें सुरक्षा उपायों को बढ़ाया जाएगा। सैकिया ने 2017 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खेले गए टी-20 मुकाबले के बारे में बात करते हुए यह बात कही। तब गुवाहाटी ऑस्ट्रेलिया टीम की बस पर पत्थर फेंकने की घटना सामने आयी थी।

Indians Fans
Indians Fans Social Media

यह होगी पाबंदी

भारत और श्रीलंका के बीच होने वाले इस मुकाबले में चौके और छक्कों के प्ले-कार्ड्स और पोस्टर या फिर इस प्रकार की कोई भी वस्तु देखने को नहीं मिलेगी। इस मैच में 'मार्कर' भी स्टेडियम के अंदर ले जाना मना है, केवल इस मैच में पुरुष और महिला पर्स, हैंडबैग मोबाइल फोन और वाहन की चाबी ले जाने की अनुमति दी गई है।

असम क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव ने इन सब की वजह बताते हुए कहा है कि, बीसीसीआई और एक बहुराष्ट्रीय पेय कंपनी का करार खत्म हुआ है, इसकी जानकारी एसीए (ACA) को लगभग 1 हफ्ते पहले मिली थी। एसीए के अधिकारी ने बताया कि चौके और छक्कों के प्रिंट वाले प्लेकार्ड की व्यवस्था सीरीज के आयोजकों द्वारा की जाती है, उन्हें अनुमति नहीं दिए जाने को लेकर बोर्ड को अब तक कोई जानकारी नहीं मिली है, हालांकि स्थानीय अधिकारी ने इस पर जो भी कहा है बीसीसीआई उसको अमल में लाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co