इंजमाम उल हक
इंजमाम उल हक |Social Media
खेल

2019 विश्व कप में टीम में डर का माहौल था, कप्तान को भी समय मिलना था

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी और कप्तान इंजमाम उल हक का मानना है कि साल 2019 में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ी डरे हुए थे।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी और कप्तान इंजमाम उल हक का मानना है कि साल 2019 में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के खिलाड़ी डरे हुए थे। उनके मन में डर का माहौल था। उन्होंने इस बात को भी स्वीकार किया कि कप्तान सरफराज अहमद को तुरंत कप्तानी से हटाने के बजाय उन्हें समय देने की जरूरत थी। उनके मुताबिक कप्तान को समय दिया जाना चाहिए, ताकि वह अनुभव के साथ और बेहतर बन पाएं।

पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने दिया यह बयान

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने कहा कि, साल 2019 विश्व कप में भी मुझे लगा कि कप्तान और खिलाड़ी काफी दबाव में थे। उन्हें डर था कि अच्छा नहीं खेलने पर उन्हें टीम से बाहर कर दिया जाएगा, ऐसा माहौल क्रिकेट के लिए अच्छा नहीं होता है।

सरफराज अहमद की कप्तानी को लेकर भी बात की

इंजमाम उल हक एक समाचार चैनल से बातचीत कर रहे थे, इस दौरान उन्होंने सरफराज अहमद की कप्तानी को लेकर भी बात की, उन्होंने कहा कि सरफराज ने पाकिस्तान के लिए कुछ अच्छी जीत दर्ज की हैं। वह अच्छे कप्तान थे, लेकिन जब वह अपने अनुभव और गलतियों से सीख चुके थे, तब उन्हें पद से हटा दिया गया था।

आपको बता दें कि इंजमाम उल हक ने इस बातचीत में यह भी स्वीकार किया कि सरफराज ने चैंपियंस ट्रॉफी जीती और हमें दुनिया की नंबर एक टी-20 टीम भी बनाया, उन्हें कुछ और समय मिलना चाहिए था, लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने उन पर भरोसा नहीं जताया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co