आईपीएल 2021 : खिलाड़ियों को एक बायो बबल से दूसरे बायो बबल में जाने की अनुमति
आईपीएल 2021 : खिलाड़ियों को एक बायो बबल से दूसरे बायो बबल में जाने की अनुमतिSocial Media

आईपीएल 2021 : खिलाड़ियों को एक बायो बबल से दूसरे बायो बबल में जाने की अनुमति

बीसीसीआई ने आईपीएल 2021 से पहले एक बड़ा फैसला लिया है जिसमें आगामी सत्र के लिए बायो बबल प्रोटोकॉल और एसओपी जारी करते हुए खिलाड़ियों को एक बायो बबल से दूसरे बायो बबल में जाने की अनुमति दी गई है।

राज एक्सप्रेस। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 से पहले एक बड़ा फैसला लिया है जिसमें आगामी आईपीएल सत्र के लिए बायो बबल (जैव सुरक्षित वातावरण) प्रोटोकॉल और मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी करते हुए खिलाड़ियों को एक बायो बबल से दूसरे बायो बबल में जाने की अनुमति दी गई है। बीसीसीआई ने कहा है कि खिलाड़ी अपनी राष्ट्रीय टीम के बायो बबल से सीधे फ्रेंचाइजी के बायो बबल में आ सकते हैं।

बीसीसीआई ने विशेष तौर पर भारतीय और इंग्लैंड की टीम को बड़ी राहत दी है। इस समय दोनों टीमें सीरीज खेल रही हैं और ऐसे में बीसीसीआई ने भारत और इंग्लैंड के खिलाड़ियों को बिना क्वारंटाइन से गुजरे आईपीएल फ्रेंचाइजी के बायो बबल में प्रवेश की छूट दी है, जबकि अन्य परिस्थितियों में चाहे खिलाड़ी हों, फ्रेंचाइजी मालिक, प्रबंधन के सदस्य, कॉमेंटेटर या मैच अधिकारी सभी को सात दिन के अनिवार्य क्वारंटीन में रहना होगा।

बीसीसीआई ने अपने एक नोट में लिखा है कि भारत और इंग्लैंड सीरीज के लिए जो बायो बबल बनाया गया है उससे आने वाले खिलाड़ी बिना क्वारंटीन से गुजरे फ्रेंचाइजी के साथ जुड़ सकते हैं, हालांकि इसके लिए उन्हें टीम होटल में सीधे टीम बस या चार्टर फ्लाइट से आना होगा। नोट के मुताबिक अगर चार्टर फ्लाइट का इस्तेमाल किया जाता है तो क्रू के सदस्यों को सभी प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। अगर यातायात संबंधी प्रबंध बीसीसीआई के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी के हिसाब से होते हैं तो खिलाड़ी सीधे फ्रेंचाइजी के बायो बबल में शामिल हो सकते हैं और उन्हें क्वारंटीन या कोरोना टेस्ट (आरटीपीसीआर) की जरूरत नहीं होगी, हालांकि फ्रेंचाइजी के अधिकारियों ने कहा है कि बबल टू बबल नियम तभी लागू होगा जब वह चार्टर फ्लाइट से आएंगे।

बीसीसीआई के इस फैसले से उन टीमों को राहत मिली है जो विदेशी बायो बबल से खिलाड़ियों के आने का इंतजार कर रही हैं। इनमें से एक दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान की श्रृंखला है। बीसीसीआई की ओर से कुल 12 बायो बबल बनाए जाएंगे, जिनमें से आठ फ्रेंचाइजी और सपोर्ट स्टाफ के लिए होंगे, दो मैच अधिकारियों और मैच प्रबंधन टीम, जबकि दो ब्रॉडकास्ट कॉमेंटेटर और क्रू के लिए होंगे।

बीसीसीआई ने यह भी स्पष्ट किया है कि उसके अधिकारी और संचालन टीमें किसी बायो बबल का हिस्सा नहीं होंगी। इसके चलते बीसीसीआई के अधिकारी किसी भी खिलाड़ी, टीम के सपोर्ट स्टाफ, मैच प्रबंधन टीमों और ब्रॉडकास्ट क्रू के साथ व्यक्तिगत रूप से बातचीत नहीं कर सकेंगे। जो टीम मालिक बबल का हिस्सा बनना चाहते हैं उन्हें टीम होटल में सात दिन तक क्वारंटीन में रहना होगा।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co