आईपीएल: सबसे फिसड्डी दो टीमों राजस्थान और हैदराबाद के बीच होगा कड़ा मुकाबला
आईपीएल: सबसे फिसड्डी दो टीमों राजस्थान और हैदराबाद के बीच होगा कड़ा मुकाबलाSyed Dabeer Hussain - RE

आईपीएल: सबसे फिसड्डी दो टीमों राजस्थान और हैदराबाद के बीच होगा कड़ा मुकाबला

आईपीएल 14 में नीचे की दो आखिरी टीमों राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच यहां रविवार को दिलचस्प और कड़ा मुकाबला होगा क्योंकि दोनों टीमें अब हार बर्दाश्त नहीं कर पाएंगी।

राज एक्सप्रेस। आईपीएल 14 में नीचे की दो आखिरी टीमों राजस्थान रॉयल्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच यहां रविवार को दिलचस्प और कड़ा मुकाबला होगा क्योंकि दोनों टीमें अब हार बर्दाश्त नहीं कर पाएंगी। राजस्थान की टीम छह मैचों में चार हार और दो जीत के साथ चार अंक लेकर सातवें, जबकि हैदराबाद छह में से पांच मैच गंवा कर मात्र दो अंक के साथ आठवें और अंतिम स्थान पर है। हैदराबाद की टीम यह मैच गंवाना नहीं चाहेगी क्योंकि इस हार के बाद उसे अपने बचे हुए सभी सात मैच हर हाल में जीतने होंगे। वहीं राजस्थान के लिए भी लगभग यही स्थिति है। उसे भी अपना यह मैच हर हाल में जीतना होगा।

राजस्थान के लिए उसके शीर्ष और मध्यक्रम की बल्लेबाजी उसकी सबसे बड़ी कमजोरी बन गई है और गेंदबाजी भी खासा अच्छी नहीं रही है। डिफेंडिंग चैंपियन और गत विजेता मुंबई इंडियंस ने राजस्थान को उसके पिछले मुकाबले में सात विकेट से पराजित किया था, जबकि नौ गेंदें फेंकी जानी शेष थीं। मुंबई ने राजस्थान के 171 के स्कोर का आसानी से पीछा कर लिया था। वहीं हैदराबाद भी पिछले मुकाबले में इसी स्थिति में था। तीन बार की आईपीएल विजेता चेन्नई सुपर किंग्स ने उसे सात विकेट से हराया था और इस मुकाबले में भी नौ गेंदें फेंकी जानी बाकी थीं।

हैदराबाद की समस्या उसकी बल्लेबाजी की विफलता है जो केवल शीर्ष क्रम पर टिकी है। अगर हैदराबाद का शीर्ष क्रम चलता है तो वह अच्छी स्थिति में हो सकता है अन्यथा उसकी मुश्किलें बढ़ना तय है। ऐसा इसलिए है क्योंकि हैदराबाद के शीर्ष क्रम के बिखरने की स्थिति में उसका मध्य और निचला क्रम पूरी तरह ध्वस्त हो जाता है। अब तक खेले छह मुकाबलों में ज्यादातर उसके शीर्ष क्रम ने ही रन बनाए हैं।

हैदराबाद को राजस्थान के खिलाफ मुकाबले में बेहतर बल्लेबाजी का प्रदर्शन करना होगा। यही स्थिति राजस्थान की भी रहेगी जिसे बेहतर खेल दिखाना होगा। हैदराबाद को तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और टी नटराजन के उपलब्ध न होने की कमी कहीं न कहीं खल रही है। जहां पहले उसकी गेंदबाजी को उसका मजबूत पक्ष माना जाता था, वहीं अब उसकी गेंदबाजी ही सवालों के घेरे में खड़ी है।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co