इशांत को सिराज से मिलेगी कड़ी चुनौती
इशांत को सिराज से मिलेगी कड़ी चुनौतीSocial Media

इशांत को सिराज से मिलेगी कड़ी चुनौती

दक्षिण अफ़्रीका की तेज और उछाल भरी पिचों पर भी इंग्लैंड की तरह भारत चार तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकता है। ऐसे में इशांत को सिराज से कठिन चुनौती मिलेगी।

सेंचुरियन। सेंचुरियन में दक्षिण अफ़्रीका के खिलाफ रविवार से होने वाले बॉक्सिंग डे टेस्ट के लिए भारतीय एकादश में लोकेश राहुल, मयंक अग्रवाल, विराट कोहली, ऋषभ पंत और जसप्रीत बुमराह का नाम तय है, वहीं चेतेश्वर पुजारा, रविचंद्रन अश्विन और मोहम्मद शमी भी जगह बनाते हुए नजर आ रहे हैं। लेकिन अन्य तीन नामों का चुनाव करना भारत के लिए बहुत मुश्किल होने जा रहा है।

पिछले साल के बॉक्सिंग डे टेस्ट से भारत ने कुल 15 टेस्ट मैच खेले हैं और इन सभी 15 टेस्ट में उन्होंने अंतिम एकादश में पांच गेंदबाजों को जगह दी है। हालांकि इन 15 में से 13 टेस्ट मैचों में रवींद्र जाडेजा और वाशिंगटन सुंदर खेले हैं, जो कि एक बेहतर बल्लेबाज या कहें बल्लेबाजी आलराउंडर हैं। इन दोनों में से कोई भी दक्षिण अफ़्रीका जाने वाले दल में शामिल नहीं है, इसलिए भारत के लिए वही टीम संयोजन बिठाना मुश्किल साबित हो सकता है।

न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फ़ाइनल हारने के बाद भारत ने इंग्लैंड दौरे पर अपनी रणनीति में परिवर्तन लाया और चार तेज गेंदबाजों और जडेजा के साथ उतरे। इस वजह से अश्विन को लगातार चार टेस्ट मैचों में बाहर बैठना पड़ा। दक्षिण अफ़्रीका की तेज और उछाल भरी पिचों पर भी इंग्लैंड की तरह भारत चार तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकता है। इसमें जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी का नाम तय है, वहीं बल्लेबाजी क्षमताओं के कारण शार्दुल ठाकुर भी जगह बनाते हुए दिख रहे हैं। ऐसे में चौथे तेज गेंदबाजी विकल्प के लिए सीधी लड़ाई इशांत शर्मा और मोहम्मद सिराज के बीच है।

2018 से इशांत शर्मा ने 26 टेस्ट मैचों में 21.37 की औसत से 85 विकेट लिए हैं, लेकिन 2021 उनके लिए उतना कुछ खास नहीं गया है। इस साल उनके नाम आठ टेस्ट में 32.71 की औसत से सिर्फ 14 विकेट ही दर्ज हैं। इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में उन्होंने पांच विकेट जरूर लिए और भारत को एक महत्वपूर्ण टेस्ट जीत दिलाई, लेकिन हेडिंग्ले के अगले मैच में ही वह रंग में नहीं दिखे और उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला। न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर टेस्ट में भी उन्हें एक भी विकेट नहीं मिला।

हालांकि इससे उनके अनुभव को खारिज नहीं किया जा सकता और भारतीय टीम प्रबंधन नेट्स में उन पर कऱीबी नजर रख रही होगी। अगर वह नेट्स में लय में नजर आते हैं, तो उन्हें अंतिम एकादश में भी मौक़ा दिया जा सकता है। उन्हें इसके लिए मोहम्मद सिराज से कठिन चुनौती मिलेगी, जिन्होंने 10 टेस्ट मैचों के अपने छोटे से करियर में ही अपना स्थान टीम इंडिया में लगभग पक्का कर लिया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co