आईएसएल : मुम्बई को ओडिशा के खिलाफ हर हाल में चाहिए जीत
आईएसएल : मुम्बई को ओडिशा के खिलाफ हर हाल में चाहिए जीतSocial Media

आईएसएल : मुम्बई को ओडिशा के खिलाफ हर हाल में चाहिए जीत

बोम्लोबिम के जीएमसी स्टेडियम में बुधवार को मुम्बई सिटी एफसी का सामना ओडिशा एफसी से होगा।

राज एक्सप्रेस। बोम्लोबिम के जीएमसी स्टेडियम में बुधवार को मुम्बई सिटी एफसी का सामना ओडिशा एफसी से होगा। ओडिशा की टीम पहले ही हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सातवें सीजन में प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो चुकी है लेकिन मुम्बई की टीम प्लेऑफ में पहुंच चुकी है और अब उसे टेबल टॉपर के तौर पर लीग स्तर का समापन करने के लिए ओडिशा के खिलाफ हर हाल में जीत चाहिए। टेबल टॉपर एटीके मोहन बागान को अपने पिछले मैच में हैदराबाद के खिलाफ अंक बांटना पड़ा था। ऐसे में अब सभी की नजरें मुम्बई सिटी एफसी पर आकर टिक गई है क्योंकि टीम अगर इस मैच को जीतती है तो वह लीग विनर्स शील्ड के लिए रेस में बनी रहेगी।

ओडिशा इस मैच में आत्मसम्मान के लिए उतरेगी। लेकिन वह मुम्बई का खेल बिगाड़ सकती है, जिसने पिछले छह मैचों में केवल एक ही जीत दर्ज की है जबकि पिछले तीन मैचों से उसे एक भी जीत नहीं मिली है। टीम को अपने पिछले मुकाबल में जमशेदपुर एफसी से हार मिली थी। मुम्बई सिटी एफसी के कोच सर्जियो लोबेरा ने कहा, '' हमें अपने प्रदर्शन में सुधार करने की जरूरत है क्योंकि हम इस मैच को जीतना चाहते हैं। जिस तरह से हम पिछला मैच खेले थे, उससे मैच में जीत दर्ज करना असंभव है। हमारा ध्यान दोंनो छोर पर सुधार करने पर है।"

उन्होंने कहा, '' हमने काफी गोल खाए है। हमारे पास गोल करने का मौके नहीं थे, जिसमें हमें सुधार करने की जरूरत है। हमने सीजन का सबसे खराब मैच खेला है, लेकिन अब वह बीते समय की बात हो चुकी है। हमारा वर्तमान और भविष्य अब सबसे महत्वपूर्ण है। यह एक खराब दिन था और ऐसा होता है। इसे नहीं दोहराना सबसे बड़ी चीज है।" दूसरी तरफ, अंतरिम कोच गेराल्ड पियटन के निजी कारणों से क्लब को छोडऩे के बाद स्टीवन डियास ओडिशा एफसी की जिम्मेदारी संभालेंगे। उन्होंने मुकाबले से पहले कहा कि उनका ध्यान युवाओं पर है। डियास ने कहा, '' हमारे पास वास्तव में अच्छे युवा खिलाड़ी हैं। मुझे अभी भी लगता है कि हमारे पास एक बहुत ही संतुलित टीम है। लेकिन, हम बहुत दुर्भाग्यशाली रहे हैं।

सीजन की शुरूआत से, थोईबा (सिंह) और सौरभ (मेहर) मिडफील्ड में खेले। लेकिन एक-दो मैच के बाद कोच स्टुअर्ट (बॉक्सटर) को भी भारतीय खिलाड़ियों को आजमाने का ज्यादा मौका नहीं मिला।" उन्होंने कहा, '' लेकिन, वे बहुत प्रतिभाशाली हैं। मैंने उन्हें ट्रेनिंग सेशन में देखा है। भविष्य में, वे बहुत अच्छे खिलाड़ी बनने जा रहे हैं लेकिन हमें कुछ युवा खिलाड़ियों को खेलने का ज्यादा मौका नहीं मिला। मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहा हूं। मुझे लगता है कि एक मैच में, आप अपना करियर बदल सकते हैं। मैं हमेशा युवा खिलाड़ियों से कहता हूं- खुद को तैयार करें और जब मौका मिले, खुद को साबित करें।"

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co