Pollard ने IPL से संन्यास लिया, बनेंगे MI के बल्लेबाजी कोच
Pollard ने IPL से संन्यास लिया, बनेंगे MI के बल्लेबाजी कोचSocial Media

Kieron Pollard ने आईपीएल से लिया संन्यास, बनेंगे एमआई के बल्लेबाजी कोच

Mumbai Indians के ऑलराउंडर कीरन पोलार्ड ने मंगलवार को इंडियन प्रीमियर लीग से संन्यास लेने की घोषणा करते हुए कहा कि अगर वह एमआई से नहीं खेल सकते तो एमआई के खिलाफ भी नहीं खेलना चाहेंगे।

मुंबई। Mumbai Indians (एमआई) के दिग्गज ऑलराउंडर कीरन पोलार्ड ने मंगलवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) से संन्यास लेने की घोषणा करते हुए कहा कि उनकी फ्रेंचाइज़ी को बदलाव की जरूरत है और अगर वह एमआई से नहीं खेल सकते तो एमआई के खिलाफ भी नहीं खेलना चाहेंगे। पोलार्ड ने ट्विटर पर जारी एक बयान में कहा कि, “यह फैसला मेरे लिये आसान नहीं रहा है क्योंकि मैं कुछ और वर्षों तक खेलने की इच्छा रखता हूं, लेकिन मुंबई इंडियन्स से चर्चा के बाद मैंने अपने आईपीएल करियर को समाप्त करने का फैसला किया है।” पोलार्ड ने कहा कि उन्होंने संन्यास के बाद एमआई के बल्लेबाजी कोच की भूमिका स्वीकार कर ली है, जबकि वह संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की टी20 लीग में मुंबई इंडियन्स की टीम ‘एमआई अमीरात’ के लिये खेलना जारी रखेंगे।

आईपीएल के 13 सत्रों में एमआई का प्रतिनिधित्व कर चुके पोलार्ड ने कहा कि वह टूर्नामेंट की सबसे बड़ी और सबसे सफल टीम के लिये खेलकर सम्मानित महसूस कर रहे हैं। पोलार्ड ने टीम प्रबंधन के साथ-साथ मुकेश अंबानी, नीता अंबानी और आकाश अंबानी के “प्रेम और समर्थन” के लिये उनका आभार व्यक्त किया है। पोलार्ड उन चुनिंदा खिलाड़ियों में से एक हैं जिन्होंने आईपीएल में 100 से ज्यादा मैच खेले है और एक ही फ्रेंचाइजी से संबंधित रहे है। पोलार्ड के अलावा विराट कोहली (रॉयल चैलेंजर बैंगलोर), सुनील नारायण (कोलकाता नाइट राइडर्स), जसप्रीत बुमराह (मुंबई इंडिन्स) और लसिथ मलिंगा (मुंबई इंडिन्स) ने भी अपने आईपीएल करियर के दौरान सिर्फ एक ही फ्रेंचाइजी से संबंध रखा था।

मुंबई इंडियन्स ने पोलार्ड को उनकी विस्फोटक बल्लेबाजी और चतुर गेंदबाजी के साथ-साथ उनकी स्फूर्ति से भरी फील्डिंग के लिये भी फ्रेंचाइजी का हिस्सा बनाया था। एमआई के साथ पांच आईपीएल और दो चैंपियन्स लीग जीतने वाले पोलार्ड इन उम्मीदों पर खरे उतरे और उन्होंने आईपीएल में 171 मैच खेलकर 147.32 के स्ट्राइक रेट से 3412 रन बनाये, जबकि उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर नाबाद 87 रन रहा। इसके अलावा उन्होंने 107 मैचों में गेंदबाजी करते हुए 69 विकेट लिये और 103 कैच भी पकड़े। शेन वॉटसन के अलावा पोलार्ड एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अपने आईपीएल करियर में 3000 रन बनाए और 50 विकेट लिये। उन्होंने 2013 के आईपीएल फाइनल में 32 गेंदों पर 60 रन की विस्फोटक पारी खेली जिसके दम पर एमआई ने पहली बार आईपीएल खिताब जीता था।

एमआई हर नीलामी से पहले पोलार्ड को टीम में शामिल करती थी। साल 2022 की मेगा-ऑक्शन से पहले भी पोलार्ड को छह करोड़ रुपये में टीम में शामिल किया गया, लेकिन इस वर्ष उनका प्रदर्शन आकांक्षाओं पर खरा नहीं उतर पाया। उन्होंने टूर्नामेंट के 11 मैचों में अपने आईपीएल करियर के सबसे खराब स्ट्राइक रेट (107.46) के साथ सिर्फ 144 रन बनाये। पोलार्ड ने आईपीएल के बाद घुटने की सर्जरी करवाई, लेकिन उनके प्रदर्शन में ज्यादा बदलाव नहीं आया। उन्होंने कैरिबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) में ट्रिनबागो नाइट राइडर्स का नेतृत्व किया, जो पहली बार अंतिम चार में जगह बनाने में नाकाम रही। पोलार्ड को टीम से बाहर करने का अर्थ है कि एमआई के पास 2023 की नीलामी के लिये अधिक धनराशि होगी और वह एक युवा विस्फोटक बल्लेबाज को टीम में शामिल करने का प्रयास करेंगे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co