खराब अंपायरिंग और तकनीकी खामी के कारण हारा पाकिस्तान
खराब अंपायरिंग और तकनीकी खामी के कारण हारा पाकिस्तानSocial Media

खराब अंपायरिंग और तकनीकी खामी के कारण हारा पाकिस्तान : मोहम्मद हफीज

पाकिस्तान की क्रिकेट टीम के निदेशक मोहम्मद हफीज ने कहा कि खराब अंपायरिंग और डिसीजन रिव्यू सिस्टम (डीआरएस) में खामी के कारण उनकी टीम को दूसरे टेस्ट मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा।

हाइलाइट्स :

  • पाकिस्तान क्रिकेट टीम।

  • ऑस्ट्रेलिया से पाकिस्तान की दूसरे टेस्ट मुकाबले में हार।

  • मोहम्मद हफीज ने कहा खराब अंपायरिंग और डीआरएस में खामी के कारण पाकिस्तान की हार हुई।

मेलबर्न। पाकिस्तान की क्रिकेट टीम के निदेशक मोहम्मद हफीज ने कहा कि खराब अंपायरिंग और डिसीजन रिव्यू सिस्टम (डीआरएस) में खामी के कारण उनकी टीम को दूसरे टेस्ट मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा। हफीज ने कहा, “हमने एक टीम के तौर पर गलतियां की, हम इन गलतियों से सीखेंगे। लेकिन मुझे यह भी लगता है कि खराब अंपायरिंग और तकनीकी खामी ने हमें ऐसा परिणाम दिया जो कि अलग भी हो सकता था। मैं समझता हूं कि ये कुछ ऐसे पहलू हैं जिन पर चर्चा होनी चाहिए। मैंने रिजवान से बात की और वह एक ईमानदार व्यक्ति हैं। उन्होंने मुझे बताया कि उन्हें यह महसूस तक नहीं हुआ कि गेंद उनके दस्ताने के किसी भी हिस्से को लगकर गई है और जैसा कि हमने देखा भी अंपायर के निर्णय को पलटने के लिए पर्याप्त सबूत होना चाहिए और इस मामले में कंक्लूसिव एविडेंस जैसी कोई बात नहीं थी।”

हालांकि आईसीसी के पूर्व अंपायर सायमन टॉफल ने चैनल सेवन से बात करते हुए थर्ड अंपायर के इस फैसले को सही ठहराया और कहा कि थर्ड अंपायर के पास रिजवान को आउट देने के पर्याप्त सबूत मौजूद थे क्योंकि गेंद रिस्ट बैंड के ऊपरी हिस्से से लगकर गई थी और वह दस्ताने से चिपका हुआ था। रिजवान का विकेट अपने नाम करने वाले कमिंस ने पारी में पांच विकेट सहित मैच में कुल 10 विकेट चटकाए। उन्होंने कहा, “मुझे लगा कि हमें रीव्यू लेना चाहिए और रीप्ले में साफ़ दिखा कि गेंद दस्ताने के स्ट्रैप से लगकर गई थी।”

हफीज ने डीआरएस में लेग बिफोर विकेट के निर्णय के संदर्भ में अंपायर्स कॉल के प्रावधान पर भी अपनी असहमति जताई। दरअसल मिचेल मार्श और स्टीव स्मिथ के बीच हुई 154 रन की साझेदारी के दौरान स्मिथ और मार्श दोनों ही अंपायर्स कॉल होने के चलते पगबाधा आउट होने से बच गए थे। हफीज ने कहा, “मैं तकनीक के पक्ष में हूं लेकिन तभी जब यह आपको फायदा पहुंचा पाए। लेकिन अगर इससे खेल में किसी तरह का संशय पैदा हो रहा है तो इसे किसी को भी स्वीकार नहीं करना चाहिए। क्योंकि कई बार तकनीक ऐसे निर्णय देता है जो हम एक मनुष्य होने के नाते स्वीकार नहीं कर पाते।”

उन्होंने कहा कि वह इस संबंध में मैच रेफ़्री या अंपायरों से जाकर चर्चा नहीं करेंगे क्योंकि उन्हें ही लगता कि इसका कोई नतीजा निकलेगा। हफीज ने कहा कि पाकिस्तान ने इस मैच में ऑस्ट्रेलिया से बेहतर क्रिकेट खेला। उन्होंने कहा, “एक टीम के तौर पर हमने बेहतर क्रिकेट खेला और मुझे इस पर गर्व है। जिस तरह से टीम ने निर्भीकता के साथ आक्रामक रूख अपनाया। अगर हम इस मैच को देखूं तो पाकिस्तान की बल्लेबाजी बेहतर थी, गेंदबाजी के दौरान हम गेंद सही जगह में डाल रहे थे।”

उल्लेखनीय है कि ऑस्ट्रेलिया ने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में चौथे दिन पाकिस्तान को 79 रनों से हरा दिया है। ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी में 318 रन बनाए थे। वहीं, पाकिस्तान की पहली पारी 264 रन पर सिमट गई। इस तरह ऑस्ट्रेलियाई टीम को 54 रन की बढ़त मिली थी। ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी 262 रन पर सिमटी थी और इस तरह पाकिस्तान पर उनकी कुल बढ़त 316 रन की हुई थी। कमिंस 49 रन पर पांच विकेट और स्टार्क 55 रन पर चार विकेट की बदौलत 317 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तान को दूसरी पारी 237 रन पर समेटते हुए 79 रनों से मुकाबला जीत लिया।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co