Raj Express
www.rajexpress.co
ऑलराउंडर से पाकिस्तान फिर शर्मसार
ऑलराउंडर से पाकिस्तान फिर शर्मसार|Neelesh Singh Thakur
खेल

ऑलराउंडर से पाकिस्तान फिर शर्मसार, ECB ने किया निलंबित

“वे कई बार निलंबित हुए, फिर जांच का हिस्सा बने, मर्ज के इलाज के लिए सुधार प्रक्रिया से गुजरे और उनको फिर से गेंदबाजी करने की अनुमति मिल गई। अब एक बार फिर वो इसी परेशानी के कारण फंस गए हैं।”

Neelesh Singh Thakur

हाइलाइट्स :

  • पाकिस्तान का बिगड़ैल ऑल-राउंडर

  • जिसको है बार-बार गलतियां करने की आदत

  • इंटरनेशनल क्रिकेट में भी कई बार पकड़ा गया

राज एक्सप्रेस। पाकिस्तान और मिडिलसेक्स के ऑलराउंडर का बॉलिंग एक्शन गेंदबाजी के दौरान संदिग्ध पाए जाने पर ECB (इंग्लैड एंड वैल्स क्रिकेट बोर्ड) ने प्लेयर को निलंबित कर दिया है। इस कार्रवाई के बाद अब हरफनमौला अगले निर्देशों तक ईसीबी की किसी भी प्रतियोगिता में गेंदबाजी नहीं कर पाएगा। पाकिस्तान का यह क्रिकेटर कई दफा गेंदबाजी में धोखेबाजी करते हुए पकड़ा जा चुका है। जानिए कितनी मर्तबा इन्होंने अपने वतन पाकिस्तान की नाक कटाई...

अव्वल तो इस बार-

हम बात कर रहे हैं, पाकिस्तान के ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज़ की। जो अपने प्रदर्शन से ज्यादा क्रिकेट में अपनी संदिग्ध गतिविधियों के कारण चर्चा में रहते हैं। इस बार अंपायर्स ने हफीज़ के एक्शन को समरसेट और मिडिलसेक्स के बीच वाइटलिटी ब्लास्ट मैच के दौरान संदिग्ध मानकर शिकायत की थी।

लॉफबर्ग यूनिवर्सिटी रिपोर्ट-

दरअसल 30 अगस्त को टॉन्टन में खेले गए मैच में अंपायरों को हफीज़ का गेंदबाजी एक्शन संदिग्ध नज़र आया था जिसकी रिपोर्ट उन्होंने की थी। इस शिकायत का लॉफबर्ग यूनिवर्सिटी में स्वतंत्र मूल्यांकन किया गया। विश्वविद्यालय से मिली रिपोर्ट के आधार पर ये एक्शन लिया गया।

ऐसा रहा प्रदर्शन-

समरसेट के खिलाफ मैच के पहले तक मोहम्मद हफीज़ का मिडिलसेक्स की ओर से T20 सेशन का अनुभव खुशगवार था इसमें उन्होंने 4 मैच खेले। इसमें हफीज़ ने 112.74 के स्ट्राइक रेट से 115 रन बनाकर दो विकेट झटके। हफीज़ को एबी डिविलियर्स के लिए मिड-सीज़न रिप्लेसमेंट के रूप में साइन किया गया है।

ये जांच हुई-

जांच प्रक्रिया में हफीज़ ने मूल्यांकन निष्कर्षों का सामना किया। इस जांच में हफीज़ के ऑफब्रेक गेंदबाजी एक्शन में कोहनी के विस्तार की 15 डिग्री टॉलरेंस लिमिट का अध्ययन किया गया। इस जांच प्रक्रिया में उनका ऑफब्रेक बॉलिंग एक्शन नियत सीमा से अधिक पार करता दिखाई दिया।

सुनवाई में क्या कहा?-

लॉर्ड्स में मंगलवार को हफीज़ की अपील सुनने वाले एक बॉलिंग रिव्यू ग्रुप ने उन्हें ईसीबी की प्रतियोगिताओं में गेंदबाजी करने से निलंबित कर दिया। इतना ही नहीं हफीज़ को अपना एक्शन सुधारने और भविष्य में ऐसा करने से बचने के लिए भी आगाह किया गया है।

रिव्यू ग्रुप ने यह भी साफ किया कि, जब तक हफीज़ अपनी आदत (गेंदबाजी एक्शन) नहीं सुधार लेते तब तक वो बॉलिंग नहीं कर पाएंगे। जब उनको ऐसा लगता है कि, उनका बॉलिंग एक्शन सुधर गया है, वे फिर से गेंदबाजी करने की अनुमति हासिल करने के लिए पुनर्मूल्यांकन का अनुरोध करने स्वतंत्र हैं।

बोला ऑलराउंडर- “मुझे मेरे गेंदबाजी एक्शन के संबंध में ECB बॉलिंग रिव्यू ग्रुप की रिपोर्ट मिली है। प्रक्रियात्मक परीक्षण में दोष की रिपोर्ट के आधार पर जारी बॉलिंग रिव्यू ग्रुप के निष्कर्षों को मैं स्वीकार करता हूं। साथ ही मुझे यह एहसास भी है कि, इस जांच परिणाम से विश्वप्रसिद्ध ऑल-राउंडर के रूप में मेरी प्रतिष्ठा भी प्रभावित होगी।”

मोहम्मद हफीज़, ऑल-राउंडर, पाकिस्तान, मिडिलसेक्स

हफीज़ ने कहा-

"ECB के नियमों के अनुसार, मैं आईसीसी के मान्यता प्राप्त केंद्र में एक स्वतंत्र विश्लेषण प्रक्रिया में उपस्थित होने के लिए तैयार हूं, ताकि मैं ईसीबी नियंत्रित खेल आयोजनों में खेलने के योग्य बन जाऊं।"

इस मर्ज की दवा क्या है?-

हफीज़ के गेंदबाजी एक्शन पर करियर में कई दफा इल्जाम लग चुका है। कई बार वो जांच कार्रवाई का हिस्सा बन चुके हैं। हफीज़ का गेंदबाजी एक्शन 2005 में संदिग्ध नज़र आया था। तब से उन्हें कई बार सूचित किया गया फिर बाद में निलंबित ही कर दिया गया।

वे कई बार इस परेशानी से गुज़रे निलंबित हुए जांच का हिस्सा बने, मर्ज के इलाज के लिए सुधार प्रक्रिया से गुजरे और उनको फिर से गेंदबाजी करने की अनुमति मिल गई। अब एक बार फिर वो इसी परेशानी के कारण दिक्कत में फंस गए हैं।

इसके पहले यहां फंसे थे-

हफीज़ को पिछले साल मई 2018 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी करने मंजूरी मिली थी। इसके बाद उन्होंने संदिग्ध बॉलिंग एक्शन की पहचान और जांच के लिए ICC (इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल) की प्रक्रिया पर सवाल उठाया था। हालांकि पीसीबी की अनुशासनात्मक समिति के सामने पेश होने और अपनी टिप्पणियों को स्पष्ट करने के बाद उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

तब से हफीज़ के गेंदबाजी एक्शन पर से मैच ऑफीशियल्स का ध्यान हट गया था, लेकिन हफीज़ तब खबरों में फिर से सुर्खियां बने जब न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज रॉस टेलर ने नवंबर 2018 में अबू धाबी में एकदिवसीय मैच के दौरान उनके गेंदबाजी एक्शन की वैधता पर सवाल उठाया।

कई बार फंसे-

एक तरह से पाकिस्तानी ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज़ तीन सालों में इस कारण कई बार निलंबित हो चुके हैं। हफीज़ नवंबर 2014 में न्यूज़ीलैंड सीरीज में निलंबित हुए थे, फिर अप्रैल 2015 में उनके बॉलिंग एक्शन को आईसीसी से ग्रीन सिग्नल मिला। गाड़ी पटरी पर आती इसके पहले ही श्रीलंका के खिलाफ गाले टेस्ट के कुछ माह बाद हफीज़ के बॉलिंग एक्शन पर सवाल उठ खड़े हुए। अवैध एक्शन के दोषी मिले, तो 12 महीने के लिए निलंबित हो गए।

करियर एक नज़र-

दायें हाथ का यह हरफनमौला खिलाड़ी 218 वनडे, 89 टी-20आई और 55 टेस्ट मैचों में पाकिस्तान की ओर से खेल चुका है। इस दौरान उन्होंने टेस्ट मैच में 53 (बेस्ट फिगर- 4/48), वनडे में 139 (बेस्ट फिगर- 4/41) जबकि T20I में 54 (बेस्ट फिगर- 4/10) विकेट लिए हैं।

कोलकाता नाइट राइडर्स-

हफीज़ दुनिया भर की तमाम फ्रैंचाइचीज़ का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स, गयाना अमेजन वारियर्स, मेलबोर्न स्टार्स जैसी टीमों के लिए भी प्रदर्शन किया है। पाकिस्तान के 2019 विश्व कप अभियान का हिस्सा रहे हफीज़ फिलहाल इंग्लैंड में खेल रहे हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर ।