Raj Express
www.rajexpress.co
Mohammad Irfan क्रिकेटर
Mohammad Irfan क्रिकेटर|Social Media
खेल

पाकिस्तानी क्रिकेटर मोहम्मद इरफ़ान ने गौतम गंभीर को लेकर दिया अजीब बयान

पाकिस्तान के क्रिकेटर अपनी बोली से बाज़ कभी नहीं आते उनके किसी न किसी मुद्दे पर बोलने की बात करें या फिर किसी निजी बात को रखने की वो हमेशा ही अपनी जुबान को लगाम रखकर पेश नहीं आते।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। पाकिस्तान के क्रिकेटर अपनी बोली से बाज़ कभी नहीं आते, उनके किसी न किसी मुद्दे पर बोलने की बात करें या फिर किसी निजी बात को रखने की वो हमेशा ही अपनी जुबान को लगाम रखकर पेश नहीं आते। आज भी कुछ ऐसा ही हुआ जब पाकिस्तान के गेंदबाज मोहम्मद इरफ़ान ने कुछ ऐसा कह दिया की उनका मज़ाक बनने लगा, दरसल उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में कहा की उनकी वजह से ही भारत के बेहतरीन सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का एकदिवसीय खेल समाप्त हुआ है और उनके करियर पर पाकिस्तानी क्रिकेटर ने ही लगाम लगायी है। साथ ही उनका कहना ये भी था की वो मुझे फेस करना बिलकुल पसंद नहीं करते थे, उन्हें लगता था की मुझे इरफ़ान का सामना न करना पड़े। जिस के बाद उनका भारतीय प्रशंसकों ने कुछ रचनात्मक पोस्ट कर जमकर मज़ाक बनाया है। उनको ट्विटर पर जम कर ट्रोल किया जा रहा है।

आखिर साबित क्या करना चाहते हैं इरफ़ान

उन्होंने अपने एक साक्षात्कार में बताया की उनकी वजह से भारत के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर का करियर ख़त्म हो गया है माना की मोहम्मद इरफ़ान ने अपने छोटे से गेंदबाजी करियर में गंभीर को 4 दफा आउट किया हो लकिन उनका यह कहना कहीं से कहीं तक रास नहीं आता। वो ऐसी बात बोल कर साबित क्या करना चाहते है? उनकी मंशा क्या है? ये तो उन्हें ही पता होगा पर एक खिलाड़ी का इस तरह का बयान किसी भी क्रिकेट खिलाड़ी या खेल प्रेमी को पसंद नहीं आएगा।

कुछ भारतीय खिलाड़ी मुझे फेस करने से डरते थे

अपनी बात में उन्होंने ये भी कहा है की कुछ भारत के खिलाड़ी उनको खेलने में घबराहट महसूस करते थे मेरी गेंदबाजी को समझ पाना उनके लिए मुश्किल होता था मेरी लम्बाई और मेरी गति से उन्हें डर लगता था और वो अपने आपको बल्लेबाजी करते सहज महसूस नहीं करते थे।

कोहली के बारे में भी कही ये बात

उन्होंने अपने साक्षात्कार में एक और बात कही जो की भारत के कप्तान विराट कोहली के लिए थी, इरफ़ान ने कह दिया की कोहली एक बार मुझे बोले थे की वो उनकी बॉल को समझ नहीं पाते उनको लगता था की वो माध्यम गति के बॉलर हैं, पर जब उन्हें खेला तो उन्हें महसूस हुआ की वो तेज़ गति के गेंदबाज हैं और इरफ़ान को खेलने में उनको तकलीफ हुई और वो मुझे पुल करने में अपना विकेट गवां बैठे।

अब ये सब जो इरफ़ान ने कह दिया है ये कितना सच है और कितना झूठ ये तो खुद ही समझ में आ जाता है, क्योंकि सबका गेम और रिकॉर्ड जवाब देता है , पर इस तरह बोलना उनके लिए भारी पड़ गया है और सभी उनको ट्रोल कर रहे हैं उनका ऐसा कहना अपने आप में एक मज़ाक है, क्योंकि इस तरह न तो कोई अपना करियर छोड़ देता है और न ही कोई भी बल्लेबाज किसी से डरता है सब क्रिकेट में कुछ नया सीखते हैं और अपने फियर को जीत कर बेहतर खिलाड़ी बनते हैं ये गेम है और यहाँ कोई छोटा बड़ा नहीं है सब का अपना स्टाइल है पर ये सब पाकिस्तानी क्रिकेटर को कौन बताएगा उन्होने तो बिना सोचे समझें अपनी बड़ी डींगे हाक दी हैं , अब देखना ये होगा की इस पूरे वाकये पर सबकी क्या प्रतिक्रिया आती है या फिर इरफ़ान को उनके बयान के लिए और ज्यादा मज़ाक का पात्र बनना पड़ेगा।