Raj Express
www.rajexpress.co
डे-नाइट टेस्ट मैच को सफल बनाना आसान नहीं
डे-नाइट टेस्ट मैच को सफल बनाना आसान नहीं|Social Media
खेल

IND Vs BAN: डे-नाइट टेस्ट मैच को सफल बनाना आसान नहीं

भारत और बांग्लादेश के बीच 22 नवंबर को कोलकाता के ईडन गार्डन मैदान पर डे नाइट टेस्ट का आयोजन किया जा रहा है। डे नाईट टेस्ट मैच का शुभारंभ करना उतना आसान नहीं होगा।

Ankit Dubey

राज एक्सप्रेस। भारत और बांग्लादेश के बीच 22 नवंबर को कोलकाता के ईडन गार्डन मैदान पर डे नाइट टेस्ट का आयोजन किया जा रहा है, भारत पहली बार डे नाइट टेस्ट की अगुवाई करने को तैयार है, लेकिन भारत के लिए डे नाईट टेस्ट मैच का शुभारंभ करना उतना आसान नहीं होगा क्योंकि डे नाइट टेस्ट मैच जितना आकर्षक लगता है उसको सफल बनने के लिए बेहतर इंतज़ाम भी करने होंगे अगर ऐसा ना हुआ तो टेस्ट मैच में बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। डे नाईट टेस्ट मैच में खेल का समय चुनना, दर्शकों के लिए बांटी जाने वाली टिकट की राशि तथा इस मैच को खेले जाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली गुलाबी गेंद या फिर हम बात करें ओस की, जो ठंड के मौसम में रात में गिरती है, इन सब बातों के लिहाज से डे नाइट टेस्ट मैच बड़ा ही चुनौतीपूर्ण हो जाता है।

नवंबर महीने में होने वाले डे नाइट टेस्ट मैच पर पड़ सकता है, ओस का असर

यह पहला मौका है जब कोई डे नाइट टेस्ट मैच ठंड के मौसम में खेला जा रहा है, ठंड के मौसम की बात करें तो मैच के दौरान ओस पड़ना लाजमी है और मैच में उसको लेकर काफी परेशानी आती है, गेंदबाजों को बॉल फेंकने में भी काफी परेशानी होती है, फील्डिंग करने के दौरान भी खिलाड़ियों को काफी मशक्कत करनी पड़ती है, तेज गेंदबाजों का काम तो फिर भी कहीं ना कहीं ठीक तरीके से चल जाता है, लेकिन स्पिनरों की बात करें तो स्पिनरों को गेंद स्पिन कराने में काफी परेशानी होती है, इसका खामियाजा इस मैच में भुगतना पड़ सकता है, भारत में खेले जाने वाले मैचों में भारतीय क्रिकेट टीम की मुख्य ताकत स्पिन गेंदबाजी ही होती है, अब ओस के चलते भारतीय स्पिनरों को जो परेशानी उठानी पड़ेगी इसका असर तो मैच के दौरान ही पता चल सकेगा।