कुछ खास नहीं, सिर्फ गेंद को देखा और प्रहार किया : धोनी
कुछ खास नहीं, सिर्फ गेंद को देखा और प्रहार किया : धोनीSocial Media

कुछ खास नहीं, सिर्फ गेंद को देखा और प्रहार किया : धोनी

महेंद्र सिंह धोनी ने पहले क्वालीफायर मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ रोमांचक जीत दर्ज करने के बाद कहा कि उन्होंने कुछ खास नहीं किया, केवल गेंद को देखा और उस पर प्रहार किया।

दुबई। चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने यहां रविवार को पहले क्वालीफायर मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ रोमांचक जीत दर्ज करने के बाद कहा कि उनकी पारी बहुत महत्वपूर्ण थी। वह बड़ी बाउंड्री का अच्छे से इस्तेमाल कर रहे थे। उन्होंने कुछ खास नहीं किया, केवल गेंद को देखा और उस पर प्रहार किया।

धोनी ने कहा, '' मैंने टूर्नामेंट में ज्यादा कुछ नहीं किया है, इसलिए मैं इस चीज से बाहर निकलना चाहता था। अगर आप नेट्स पर बल्लेबाजी कर रहे हैं तो सिर्फ गेंद को देखते हैं कि क्या विविधता है और गेंदबाज कहां गेंद डाल सकता है। मेरे दिमाग में इससे ज्यादा कुछ नहीं था। अगर दिमाग में बहुत सारी बातें घूमें तो गेंद को देखना मुश्किल हो जाता है।"

सीएसके के कप्तान ने अन्य बल्लेबाजों को जडेजा के ऊपर भेजे जाने पर कहा, '' हम एक ऐसी टीम हैं जो इस बारे में ज्यादा नहीं सोचती है। दीपक के साथ हमारे पास नौवें नंबर तक बल्लेबाजी है। शॉर्दुल और यहां तक कि दीपक ने हाल ही में जिस तरह से बल्लेबाजी की है, दोनों ने योगदान दिया है। जब एक बल्लेबाज क्रीज पर उतरेगा तो वह पहली गेंद पर बाउंड्री लगाने के बारे में दो बार सोचेगा, लेकिन शार्दुल और दीपक पहली गेंद से ही हिट लगाने को देखेंगे। अगर वे एक या दो हिट लगा देते तो यह बड़ा प्रभाव डाल सकता था, क्योंकि रनों का अंतर 15-20 का ही था।"

धोनी ने कहा, '' उथप्पा एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो ऊपर बल्लेबाजी करना पसंद करते हैं। मोईन अली ने नंबर तीन पर हमारे लिए बहुत अच्छा किया है, हालांकि हमने विकल्प खुला छोड़ रखा है। कोई भी बल्लेबाज आउट होगा तो मोईन, उथप्पा या अन्य कोई बल्लेबाज नंबर तीन पर उतरेगा। हम पहले से यह तय नहीं कर सकते हैं कि हम किसे भेजेंगे। यह इस बात पर निर्भर करता है कि कौन सा ओपनर आउट होता है और किस विरोधी टीम के साथ हम खेल रहे हैं।"

उन्होंने इस सीजन सीएसके की वापसी पर कहा, '' यह पूरी टीम का प्रयास है। पिछली बार सीजन मुश्किल रहा था और हम क्वालीफाई नहीं कर पाए थे। बीती सारी बातों को भुला कर आगे बढ़े। हम आखिरी तीन-चार लीग मैचों में जो भी प्रयोग करना चाहते थे कर सकते थे। हमारे कई बल्लेबाजों ने इस समय का इस्तेमाल किया यही कारण है कि मुझे लगता है कि हम इस वर्ष मजबूत वापसी कर पाए। सपोर्ट स्टाफ और टीम के प्रत्येक सदस्य को इसका श्रेय जाता है। उनके कौशल के बिना आप इस तरह की वापसी नहीं कर सकते।"

धोनी ने रुतुराज गायकवाड़ के फॉर्म पर कहा, '' हमने जब भी बातचीत की, वो हमेशा सीधी और स्पष्ट रही। यह सब इस बारे में थी कि क्या चल रहा है और वह क्या सोच रहे हैं, क्योंकि यह समझना बहुत महत्वपूर्ण है कि पिछले कुछ वर्षाें में उन्होंने कितना सुधार किया है। उनके गेम प्लान को भी समझना जरूरी है। वह एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो पूरे 20 ओवर बल्लेबाजी करने की इच्छा रखते हैं।"

कप्तान ने कहा, '' मैंने एक मैच के बाद रुतुराज से बातचीत की थी। इस दौरान उनसे कहा था कि अगर आप ओपनर हैं और आपको अच्छी शुरुआत मिलती है तो यहां ऐसा कोई नहीं है जो कहे कि आपको सिर्फ 10 या 12 ओवर बल्लेबाजी करनी है, आप 18, 19 या 20 तक बल्लेबाजी क्यों नहीं कर सकते। इस बातचीत के बाद अगले मैच में उन्होंने 20 ओवर तक बल्लेबाजी की। इसका मतलब है कि वह सीखने को लेकर बहुत उत्सुक हैं। वह ऐसे खिलाड़ी हैं जो क्रिकेटिंग शॉट लगाते हैं। उन्होंने अपने लिए बहुत अच्छा किया है। वह एक शानदार प्रतिभा हैं।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co