पीसीबी पाकिस्तानी खिलाड़ियों को बीबीएल के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं देगा
पीसीबी पाकिस्तानी खिलाड़ियों को बीबीएल के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं देगाSocial Media

पीसीबी पाकिस्तानी खिलाड़ियों को बीबीएल के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं देगा

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने अपने खिलाड़ियों को ऑस्ट्रेलिया में होने वाले बीबीएल सीजन में खेलने की अनुमति रूपी अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) देने से मना कर दिया है।

कराची। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने अपने खिलाड़ियों को ऑस्ट्रेलिया में होने वाले बीबीएल सीजन में खेलने की अनुमति रूपी अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) देने से मना कर दिया है, फिर चाहे वह अनुबंधित खिलाड़ी हो या नहीं। बोर्ड ने अगले साल यूएई में होने वाली नई प्रतियोगिता आईएलटी20 पर भी खिलाड़ियों की उपलब्धता पर कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया है। इस फैसले का मुख्य कारण आने वाले समय में घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर व्यस्त कार्यक्रम समझा जा रहा है। हालांकि ऐसे में यह बात साफ नहीं है कि बिना अनुबंध वाले खिलाड़ियों पर रोक क्यों लगाई जा रही है।

बीबीएल के ड्राफ्ट में पिक होने के लिए शुरुआती 98 विदेशी खिलाड़ियों की सूची में कोई पाकिस्तानी नाम नहीं था, लेकिन ऐसा समझा जा रहा था कि डेडलाइन से पहले उन्हें शामिल कर लिया जाएगा। आईएलटी20 में अब तक औपचारिक रूप में किसी भी खिलाड़ी का नाम नहीं लिया गया है, लेकिन कई शीर्ष के पाकिस्तानी खिलाड़ियों का नाम इस लीग के होने वाले करारों से जोड़ा गया है। यह पहली बार नहीं है जब खिलाड़ियों और बोर्ड के बीच लीग में शामिल होने पर असहमति हो सकती है। 2019 के नवंबर में खिलाड़ियों के हड़ताल तक की नौबत आ चुकी थी। कुछ समय से पीसीबी ने विदेशी लाग में हिस्सा लेने पर खिलाड़ियों के साथ एक अनौपचारिक पीएसएल प्लस वन नियम का समझौता बनाए रखा था। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि रमीज राजा की अध्यक्षता में इस सिद्धांत को जारी रखा जा रहा है या नहीं।

अगले साल से आईएलटी20 के अलावा साउथ अफ्रीका में नया टी20 लीग भी खेला जाएगा और ऐसे में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को टीमों में शामिल करने की मांगें बढ़ ही सकती हैं। हालांकि पाकिस्तान में नियमानुसार एनओसी प्राप्त करने से पहले ड्राफ्ट में अपना नाम डालने के लिए भी खिलाड़ियों को पीसीबी से अनुमति लेनी पड़ती है। ऐसे में आईपीएल में खेलने के मौकों से वंचित रहने वाले पाकिस्तानी खिलाड़ियों में अच्छी राशि ना कमा पाने को लेकर काफी मायूसी है। बीच में पीसीबी के प्रस्तावित योजना के तहत अपने खिलाड़ियों को विदेशी लीग में ना खेल पाने पर उनकी आर्थिक भरपाई करवाने की बात चली थी, लेकिन इन लीगों की इनामी राशि देखते हुए बात आगे नहीं बढ़ी है।

इसके अलावा पीसीबी ने हाल ही में घोषणा की थी कि सफेद गेंद और लाल गेंद क्रिकेट मिलाकर 2022-23 के लिए 33 केंद्रीय अनुबंध दिए जाएंगे। खिलाड़ियों ने इन पर हस्ताक्षर करने से पहले कानूनी सलाह के लिए पहली कॉपी मांगी थी। ऐसा होना दूसरे देशों में आम बात है, लेकिन पाकिस्तान में अक्सर 150 पेज के अनुबंध किसी दौरे से ठीक पहले खिलाड़ियों को थमाए जाते हैं और उनसे तुरंत हस्ताक्षर करवाए जाते हैं। फिलहाल ऐसा कोई संकेत नहीं है कि केंद्रीय अनुबंधों के मुद्दे का सहारा लेकर पाकिस्तानी खिलाड़ी बोर्ड से एनओसी मामले में अपने फैसले को बदलने पर मजबूर कर सकते हैं। हालांकि ऐसा होना असंभव भी नहीं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co