पंजाब और कोलकाता को हर हाल में चाहिए जीत
पंजाब और कोलकाता को हर हाल में चाहिए जीतSocial Media

पंजाब और कोलकाता को हर हाल में चाहिए जीत

कोलकाता नाइट राइडर्स और पंजाब किंग्स प्लेऑफ की दौड़ में बने रहने के लिए यहां आज शुक्रवार को एक-दूसरे के खिलाफ मैच में किसी भी हाल में जीतना चाहेंगे।

दुबई। कोलकाता नाइट राइडर्स और पंजाब किंग्स प्लेऑफ की दौड़ में बने रहने के लिए यहां आज शुक्रवार को एक-दूसरे के खिलाफ मैच में किसी भी हाल में जीतना चाहेंगे। कोलकाता जहां 11 मैचों में पांच जीत कर 10 अंकों के साथ फिलहाल चौथे, वहीं पंजाब 11 मैचों में चार मैच जीत कर आठ अंकों के साथ छठे नंबर पर है। दोनों टीमों के तीन मैच शेष रह गए हैं, जिन्हें जितना दोनों टीमों के लिए बेहद अहम है, अगर उन्हें प्लेऑफ में जगह बनानी है तो।

कोलकाता के पास हालांकि प्लस 0.363 नेट रन रेट का एडवांटेज है जो पहले नंबर की चेन्नई और दूसरे नंबर की टीम दिल्ली के बाद तीसरा सबसे अच्छा नेट रन रेट है। पंजाब का नेट रन रेट इतना ठीक नहीं है। इसके अलावा कोलकाता के लिए सबसे अच्छी बात उसके सभी खिलाड़ियों का फॉर्म में होना है, जबकि पंजाब की बल्लेबाजी अब तक सिर्फ सलामी बल्लेबाजों लोकेश राहुल और मयंक अग्रवाल पर निर्भर दिखी है।

यूएई चरण में उसके मध्य क्रम का कोई भी बल्लेबाज अच्छी और प्रभावित पारी नहीं खेल पाया है। लेग स्पिनर रवि बिश्नोई को छोड़ दें तो गेंदबाजी भी इतनी प्रभावित नहीं दिखी है। अर्शदीप ने दूसरे चरण के पहले मैच में बेशक पांच विकेट लिए थे, लेकिन उसके बाद से वह भी कुछ खास नहीं कर पाए हैं।

उधर कोलकाता की बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों अच्छी चल रही है। शीर्ष क्रम में शुभमन गिल, वेंकटेश अय्यर और राहुल त्रिपाठी तूफानी अंदाज में रन बना रहे हैं, वहीं मध्य क्रम में नीतीश राणा और दिनेश कार्तिक भी अपना योगदान दे रहे हैं। गेंदबाजी में मिस्ट्री स्पिनर सुनील नारायण और वरुण चक्रवर्ती और तेज गेंदबाज लॉकी फर्ग्युसन शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं। दोनों टीमों के लिए आज का मैच जीतना बेहद जरूरी है, इसलिए कल कांटे का मुकाबला देखने को मिल सकता है। इस जीत के साथ कोलकाता जहां चौथे स्थान पर बना रहेगा, वहीं पंजाब के पास बड़े अंतर से जीत कर ऊपर की ओर आने का मौका होगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.