R Praggnanandhaa
R PraggnanandhaaRaj Express

R Praggnanandhaa : भारत के नंबर वन ग्रैंड मास्टर बने 'प्रगनाननंदा', वर्ल्ड चैंपियन डिंग लिरेन को हराया

R Praggnanandhaa : प्रगनाननंदा ने इस जीत के साथ विश्वनाथन आनंद को पीछे छोड़ दिया है। वह अब भारत के नंबर वन भारतीय ग्रैंड मास्टर बन गए हैं।

हाइलाइट्स :

  • आर प्रगनानंद ने टाटा स्टील मास्टर्स इवेंट में वर्ल्ड चैंपियन में डिंग लिरेन को मात दी है।

  • आर प्रगनानंद ने FIDE की लाइव रेंटिंग में 11वें नंबर पर पहुंच गए हैं।

  • आर प्रगतानंद के मास्टर्स ग्रुप में अब 2.5 अंक के साथ तीसरे स्थान पर पहुंच गए हैं।

स्पोर्ट्स डेस्क। भारतीय शतरंज के स्टार प्लेयर रमेशबाबू प्रगनाननंदा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए टाटा स्टील मास्टर्स इवेंट में डिंग लिरेन को मात दे दी है। बता दें कि, डिंग लिरेन मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन हैं। आर प्रगनाननंदा ने उन्हें चौथे राउंड में हरा दिया। प्रगनाननंदा ने इस जीत के साथ विश्वनाथन आनंद को पीछे छोड़ दिया है। वह अब भारत के नंबर वन भारतीय ग्रैंड मास्टर बन गए हैं। पिछले साल इन्होंने इसी इवेंट में डिंग लिरेन को हराया था। इंटरनेशनल चेस फेडरेशन (FIDE) रेटिंग के अनुसार विश्व में प्रगनानंद के 2748.3 अंक हैं।

दरअसल, प्रगनानंद ने जीत के साथ विश्वनाथन आनंद को रेटिंग के मामले में पीछे छोड़ दिया है। प्रगनानंद FIDE की लाइव रेंटिंग के अनुसार 11वें नंबर पर पहुंच गए हैं। उनके 2748.3 पॉइंट्स हैं। वहीं विश्वनाथन आनंद 12वें नंबर पर हैं। आनंद के 2748 अंक हैं। अभी टॉप पर मैग्नस कार्लसन हैं और दूसरे नंबर पर फैबियानो कारुआना हैं। प्रगनानंद के नाम कई रिकॉर्ड दर्ज हैं। वे 2016 में जूनियर इंटरनेशनल मास्टर बने थे। प्रगनानंद ने 10 साल और 10 महीने की उम्र में यह उपलब्धि हासिल कर ली थी। वह पहली बार 2017 में ग्रैंड मास्टर बने। फिर 2018 में भी ग्रैंड मास्टर बने। प्रगनानंद तमिलनाडु के चेन्नई से हैं। उनके पिता रमेशबाबू एक बैंक में ब्रांच मैनेजर हैं।

प्रगनानंद ने chess.com से बातचीत में बताया कि यह बहुत अच्छा एहसास है। मुझे लगा कि मैंने बहुत आसानी से बराबरी कर ली और किसी तरह डिंग लिरेन गलत के लिए चीज़ें गलत होने लगें। आर प्रगनानंद के मास्टर्स ग्रुप में अब 2.5 अंक हो गए हैं और वह में तालिका तीसरे स्थान पर हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co