Ranji Trophy : उत्तर प्रदेश के सामने मजबूत मुंबई की चुनौती
Ranji Trophy : उत्तर प्रदेश के सामने मजबूत मुंबई की चुनौतीSocial Media

Ranji Trophy : उत्तर प्रदेश के सामने मजबूत मुंबई की चुनौती

भारत के सबसे बड़े प्रथम श्रेणी टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी का 87वां संस्करण सेमीफाइनल के पड़ाव पर आ पहुंचा है।

बेंगलुरु। भारत के सबसे बड़े प्रथम श्रेणी टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी का 87वां संस्करण सेमीफाइनल के पड़ाव पर आ पहुंचा है। सेमीफाइनल मुकाबले मंगलवार को बेंगलुरु में प्रारंभ होंगे जहां मध्य प्रदेश का सामना होगा बंगाल से और मुंबई की टक्कर होगी उत्तर प्रदेश के साथ। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता की मुंबई को नॉकआउट में प्रवेश करने के लिए अन्य नतीजों पर निर्भर करना पड़ा। क्वार्टर-फाइनल में उत्तराखंड पर 725 रनों की रिकॉर्ड जीत दर्ज करने के बाद वह अलुर में उत्तर प्रदेश के खिलाफ जीतने की दावेदार होगी।

86 में से रणजी ट्रॉफी के 46 फाइनल में प्रवेश करने वाली 41 बार की विजेता मुंबई पिछले मैच में मिले आत्मविश्वास को बरकरार रखना चाहेगी। सूर्यकुमार यादव और अजिंक्य रहाणे के बाद अनुभवी बल्लेबाज आदित्य तरे चोट के चलते सेमीफाइनल में नहीं खेल पाएंगे। हालांकि मुंबई के पास पृथ्वी शॉ, यशस्वी जायसवाल, सरफराज खान और अरमान जाफर के रूप में ऐसे घातक बल्लेबाज हैं जो अपने दम पर मैच का रुख पलट सकते है। अपने पहले ही मैच में 252 रन बनाकर सुवेद पारकर ने भी अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। गेंदबाजी क्रम में बाएं हाथ के स्पिनर शम्स मुलानी 37 विकेट लेकर इस सीजन के सबसे सफल गेंदबाज हैं।

भले ही उत्तर प्रदेश के पास मुंबई की तरह बड़े खिलाड़ी तथा हाल के सालों में कोई ट्रॉफी नहीं है (2005-06 में आखिरी बार यूपी ने रणजी ट्रॉफी अपने नाम की थी), शॉ की टीम उन्हें हल्के में नहीं ले सकती। मुंबई की तरह उत्तर प्रदेश की टीम को भी नॉकआउट में जाने के लिए अंतिम दिन तक संघर्ष करना पड़ा था। वह अब तक इस टूर्नामेंट में अविजित है और आठ बार की विजेता कर्नाटक को हराकर सेमीफाइनल में आ रही है।

रिंकू सिंह, प्रियम गर्ग और करण शर्मा के रूप में उनके पास एक मजबूत बल्लेबाजी क्रम है। तेज गेंदबाज मोहसिन खान और यश दयाल ने उनके गेंदबाजी क्रम को मजबूत किया है, जिसमें पहले से ही अंकित राजपूत और सौरभ कुमार मौजूद थे। सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए एक दिग्गज टीम पर दमदार जीत दर्ज करने के बाद अब उत्तर प्रदेश दूसरी दिग्गज टीम को हराकर फाइनल में जाना चाहेगी। अगर ऐसा हुआ तो 2008-09 के फाइनल में मिली हार का बदला भी पूरा हो जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co